किसानों के साथ फसली ऋण वितरण में धोखाधड़ी, सहकारी समिति का रिकॉर्ड किया सीज

किसानों ने सहकारी समिति के सामने किया विरोध प्रदर्शन कर जांच की मांग की

शाहपुरा। क्षेत्र की ग्राम पंचायत खोरी की ग्राम सेवा सहकारी समिति में किसानों के साथ ऋण वितरण में धांधली व धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। मामला सामने आने पर सहकारी समिति अध्यक्ष ने रिकॉर्ड सीज कर उच्चाधिकारियों को अवगत कराया है।


इधर, किसानों ने ऋण वितरण में धांधली व धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए पूर्व सरपंच मोतीलाल यादव के नेतृत्व में सहकारी समिति के बाहर विरोध प्रदर्शन कर जांच की मांग की। इस दौरान समिति कार्यालय बंद रहने से किसान वहां से शाहपुरा उपखण्ड कार्यालय पहुंचे और एसडीएम को ज्ञापन देकर ऋण वितरण मामले की जांच कराने की मांग की। इस पर एसडीएम ने शीघ्र जांच करवाने का आश्वासन देकर किसानों को शांत किया।

विरोध के दौरान पूर्व सरपंच मोतीलाल यादव, रामचंद्र यादव, गिरधारी, धोलाराम यादव, मदनलाल यादव, विक्रम यादव सहित अन्य लोगों ने बताया कि खोरी ग्राम सेवा सहकारी समिति के व्यवस्थापक व कर्मचारियों ने किसानों को फसली ऋण का भुगतान करने में धांधली बरती है। कर्मचारियों ने भुगतान राशि में हेरफेर कर किसानों को कम राशि देकर ऋण रजिस्टर में पूरी राशि दर्ज कर दी।

कालूराम यादव, राजेश गुर्जर, संदीप गुर्जर, सीताराम सहित कई किसानों ने कहा कि कई किसानों को तो अभी तक ऋण की राशि ही नहीं दी गई और उनके ऋण को भी उठाया हुआ बताया जा रहा है। किसानों ने आरोप लगाया कि बाजरे की फसल का सरकारी अनुदान का भी फर्जी वाउचर लगाकर गबन कर लिया गया और साख सीमा का नया नियम आया है, जिसमें भी किसानों से नाजायज रूप से राशि वसूली जा रही है।

पूर्व सरपंच मोतीलाल ने बताया कि समिति के चुनाव में भी गड़बड़ी की गई थी। चुनाव से लेकर आज तक समिति की बैठक भी नहीं की गई। इधर, किसानों के विरोध प्रदर्शन कि दौरान समिति के ताले लगे रहे। इस संबंध में जब व्यवस्थापक रामजीलाल गुर्जर से फोन पर वार्ता की तो उन्होंने बाहर रिश्तेदारी में जाने की बात कहते हुए बुधवार को कार्यालय आने से मना कर दिया। इससे नाराज किसान एसडीएम कार्यालय पहुंच गए। जहां एसडीएम नरेंद्र कुमार मीणा को ज्ञापन सौंपकर जांच की मांग की।


किसानों ने ग्राम सेवा सहकारी समिति में धांधली व घपला होने की शिकायत दी है। व्यवस्थापक को नोटिस देकर जवाब मांगा जाएगा। साथ ही शिकायत की जांच कराएंगे। ----नरेंद्र कुमार मीणा, एसडीएम शाहपुरा।

यह मामला वर्ष 2014-15 का है। जिसकी अनियमितता की जानकारी मिलते ही मैंने समिति का पूरा रिकॉर्ड सीज कर दिया और इस मामले में उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया। उच्चाधिकारियों ने दूसरे ही दिन जांच टीम भी भिजवाई थी। अब कल से टीम जांच करेगी। किसी भी किसान के साथ अन्याय नहीं किया जाएगा। ------रविश खटाणा, अध्यक्ष, ग्राम सेवा सहकारी समिति खोरी

Satya Desk
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned