पुलिस ने दबिश दी तो शौचालय में छिपा मिला गैंग का सरगना

आईओसीएल की पाइप लाइन में सेंधमारी कर क्रूड ऑयल चोरी करने वाली गैंग का सरगना दिल्ली से गिरफ्तार

गैंग ने सुरंग बनाकर एक माह में किया था करोड़ों का तेल चोरी

 

By: Satya

Published: 29 Jun 2020, 10:08 PM IST


-साईबर सैल की मदद से आए पकड़ में, शौचालय में छिपा मिला सरगना


शाहपुरा। शाहपुरा थाना इलाके में जयपुर-दिल्ली नेशनल हाईवे पर टांडा पुलिया के पास से भूमिगत जा रही आईओसीएल की पाइप लाइन में सेंधमारी कर करोड़ों रुपए का क्रूड ऑयल चोरी करने के 8 माह पुराने मामले में जयपुर ग्रामीण पुलिस की टीम ने अन्तर्राज्यीय गैंग के विरुद्ध बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। पुलिस की टीम ने सामवार को क्रूड ऑयल चोरी करने वाले गैंग के मुख्य सरगना और उसके साथी को दिल्ली से दबोचा है।

गिरफ्तार आरोपी गैंग का मुख्य सरगना राशिद (45 ) पुुत्र अब्दुल रज्जाक निवासी ओम विहार फेज 3 उत्तम नगर नई दिल्ली और उसका पार्टनर पवन कुमार (40 ) पुत्र महावीर सिंह हरिजन निवासी ककरोला गांव सेक्टर 17 द्वारका नॉर्थ नई दिल्ली है। पुलिस दोनों आरोपियों से गहनता से पूछताछ कर रही है।


जयपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक शंकर दत्त शर्मा ने बताया कि 8 अक्टूबर 2019 को शाहपुरा थाना इलाके में जयपुर-दिल्ली नेशनल हाईवे पर टांडा पुलिया के पास से भूमिगत जा रही आईओसीएल की पाइप लाइन में सेंधमारी कर क्रूड ऑयल चोरी करने का मामला उजागर हुआ था।

जिस पर घटना के तत्काल बाद जयपुर ग्रामीण पुलिस टीम ने महारानी एनक्लेव उत्तम नगर नई दिल्ली निवासी एक आरोपी आजाद उर्फ बबन पुत्र शहजाद मंसूरी को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो गैंग के मुख्य सरगना राशिद सहित अन्य आरोपियों के नाम सामने आए। इस गठित की गई पुलिस की विशेष टीम ने साईबर सैल की मदद से दबिश देकर गैंग के सरगना और उसके साथी को दिल्ली से पकड़ा है।

जेल से बाहर आते ही बनाई गैंग
थाना प्रभारी दीपक खंडेलवाल ने बताया कि पूछताछ में खुलाशा हुआ कि आरोपी राशिद क्रूड ऑयल चोरी के मामले में 2014-15 में हरियाणा में गिरफ्तार हुआ था। इसी प्रकरण में पवन भी गिरफ्तार हुआ था। उस दौरान जेल में बंद राशिद ने पवन के बारे में अखबार में पढ़ा और जेल से बाहर आते ही उससे पवन से मिलकर एक गैंग बनाई।

इस गैंग ने 2016 से 2019 के बीच द्वाका दिल्ली और मूण्डका दिल्ली में भी कूंड ऑयल चोरी के अपराध को अंजाम दिया था। जिसमें एक प्रकरण में आरोपित पवन की जमानत हो गई और सरगना राशिद का उसमें नाम नहीं आया था। इसके बाद आरोपी राशिद, सोनू, महेश, व शादि ने शाहपुरा में टांडा पुलिया के पास जगह चिह्नित की और सुरंग बनाकर पाइप लाइन में सेंधमारी कर टैंकरों से करोड़ों रुपए का क्रूड ऑयल चोरी किया।

यूपी, नोएडा व गुजरात से जुड़े हैं तार


सुरंग बनाने का काम यूपी निवासी शाहिद, सोनू व उनके साथी करते हैं। जो 3 से 4 माह में खुदाई कर सुरंग बना देते हैं। फिर पाइप लाइन में फ्लेक्स, जैक लगाकर तेल चोरी शुरू करते थे। तेल चोरी के बाद आरोपी राशिद टैंकरों को पवन के पास पहुंचाता था और पवन अपने संपर्कों से आगे बेच देता था। आरोपियों के तार यूपी, नोएडा व गुजरात में भी जुड़े होने की जानकारी मिली है।

-----------

साईबर सैल की मदद से आए पकड़ में

पुलिस टीम ने साईबर सैल की मदद से आरोपियों की पहचान कर उनको दबोचा है। साईबर सैल के इनपुट के आधार पर एएसपी कोटपूतली रामकुवांर कस्वा ने डीएसपी शाहपुरा सुरेन्द्र कृष्णियां व थाना प्रभारी शाहपुरा दीपक खंडेलवाल के नेतृत्व में एक विशेष टीम गठित की। टीम को अभियुक्तों के दिल्ली में होने की सूचना मिलने पर कांस्टेबल सुभाष व कमलेश को दिल्ली भेजा गया। दोनों ने साईबर सैल द्वारा दिए गए तकनीकी आधार पर गंैग के सरगना के ठिकानों की जानकारी हासिल की।

इसके बाद थाना प्रभारी खंडेलवाल के नेतृत्व में कांस्टेबल ओमवीर व राजेश सहित अन्य की शाहपुरा से गई दूसरी पुलिस टीम ने दबिश देकर गैंग के सरगना राशिद को उसके घर से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की। पुलिस टीम ने दबिश दी तब भनक लगते ही आरोपी शौचालय में जा छिपा। जहां से पुलिस ने दबोच लिया। प्रारंभिक पूछताछ में आरोपी ने बताया कि गैंग के अलावा तेल बेचने में दिल्ली निवासी पवन कुमार भी उसका पार्टनर है। जिस पर पुलिस ने उसे भी घर से गिरफ्तार कर लिया।


पुलिस टीम को पुरस्कार की घेाषणा
पुलिस महानिरीक्षक जयपुर रेंज ने उत्कृष्ट कार्य करने के लिए आरोपियों को पकडऩे वाली पुलिस टीम को नकद पुरस्कार व प्रशंसा पत्र देने की घोषणा की है।

एक माह में भूमिगत सुरंग बनाकर करोड़ों का निकाला था तेल

इंडियन ऑयल की पाइप लाइन चाकसू से शाहपुरा होते हुए पानीपत जा रही है। आरोपियों ने यहां टांडा पुलिया स्थित मुक्तावाली ढाणी के पास जमीन किराए पर लेकर हाईवे के नीचे से आर पार खुदाई कर काफी गहरी भूमिगत सुरंग बनाई। फिर पाइप लाइन में हाई टेक्नोलॉजी का वॉल्व फिट कर दिया। वॉल्व से करीब 100 मीटर की दूरी पर टीन शेड लगाकर क्रूड ऑयल की मुख्य पाइप लाइन से तेल चोरी शुरू की।

करीब एक माह के दौरान आरोपियों ने करोड़ों रुपए का तेल निकाला, लेकिन किसी को सुराग नहीं लगा। 10 सितम्बर की रात को पाइपलाइन में कू्रड ऑयल का प्रेशर कम होने पर कंपनी प्रतिनिधियों ने चोरी होने का अनुमान लगाया। जिस पर आईओसी के स्तर पर इंटेलीजेंस पिंगिंग के माध्यम से पाइप लाइन का सर्वे कराया तो भूमिगत पाइप लाइन में तेल चोरी पकड़ी गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned