मुम्बई से दवा आने पर 20 दिन बाद सुधरी बीमार मशीन....मरीजों को मिली राहत

-शाहपुरा सीएचसी का मामला

-पत्रिका ने उठाई थी मरीजों की समस्या

By: Satya

Updated: 12 Oct 2018, 08:41 PM IST

 

 

शाहपुरा। शाहपुरा के राजकीय अस्पताल में पिछले करीब 20 दिन से खराब पड़ी सीबीसी ( कम्पलीट ब्लड काउंट) मशीन मुम्बई से पाट्र्स आने पर सुधार दी गई है। मशीन ठीक होने पर गुरुवार को मरीजों की सीबीसी जांच शुरू कर दी गई है। अस्पताल प्रभारी के मुताबिक गुरुवार को करीब डेढ सौ मरीजों की सीबीसी जांच की गई।
उल्लेखनीय है कि राजस्थान पत्रिका में ७ अक्टूबर के अंक में पन्द्रह दिन से रक्त जांच मशीन बीमार, मुम्बई से आएगी दवा शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर मरीजों की समस्या को प्रमुखता से उठाया था। इस पर हरकत में आए चिकित्सा विभाग के अधिकारियों ने कंपनी को पाबंद कर मशीन को दुरुस्त कराया। जिससे मरीजों को राहत मिली है। इससे पहले प्रतिदिन सैंकड़ों मरीजों को ढाई सौ रुपए देकर बाहर निजी केन्द्रों पर जांच करानी पड़ रही थी।

 


मौसमी बीमारियों का प्रकोप, अस्पताल का आउटडोर 1600 के पार

 

उल्लेखनीय है कि क्षेत्र में मौसमी बीमारियां पैर पसार रही है। मौसमी बीमारियों के चलते शाहपुरा के राजकीय अस्पताल के आउटडोर में मरीजों का आंकड़ा करीब 1600 को पार कर रहा है। मौसम बदलाव के चलते बुखार, खांसी, जुकाम के सबसे अधिक मरीज आ रहे हैं। जबकि अस्पताल की लैब में मरीजों की डेंगूं, मलेरिया, खून की कमी जैसी जांच के काम आने वाली सीबीसी ( कम्पलीट ब्लड काउंट) मशीन 20 दिन से भी अधिक समय से खराब पड़ी रही। कंपनी की लापरवाही से मरीजों को बाहर निजी जांच केन्द्रों पर जांच करानी पड़ रही थी। अब जाकर मरीजों को राहत मिली है।

 

नई मशीन का प्रस्ताव फाईलों में दफन

 

लैब कर्मचारियों ने बताया कि उक्त मशीन होरीबा कंपनी की है, इसके पाटर्स जयपुर में नहीं मिलते। पाटर्स मुम्बई से आते हैं। ऐसे में जब भी मशीन खराब होती है, ऐसी ही स्थिति होती है। इसलिए मरीजों की परेशानी को देखते हुए नई सीबीसी मशीन के लिए विभाग को लिखा हुआ है। इसके बावजूद विभाग ने अभी तक इस तरफ ध्यान नहीं दिया। यह मशीन पहले भी खराब हो चुकी। लैब कर्मचारियों ने बताया कि अस्पताल में मरीजों के दबाव को देखते हुए एक और सीबीसी मशीन होनी चाहिए। जो मशीन खराब होने पर काम आ सके।

 

इनका कहना है-

मशीन ठीक हो गई है। गुरुवार को करीब डेढ सौ मरीजों की सीबीसी जांच की गई थी। नई मशीन के लिए विभाग को फिर से पत्र लिखा जाएगा। ---डॉ. ए एल अग्रवाल, चिकित्सा प्रभारी, राजकीय अस्पताल, शाहपुरा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned