scriptimprove mental health and emotional health: The Holistic Living | मानसिक स्वास्थ्य और भावनात्मक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने की कोशिश कर रहा : द होलिस्टिक लिविंग | Patrika News

मानसिक स्वास्थ्य और भावनात्मक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने की कोशिश कर रहा : द होलिस्टिक लिविंग

एक इंसान का जीवन हमेशा ही तनाव और संघर्ष से भरा हुआ रहता है. अनजाने में ही इंसान आज भी एक डर, स्ट्रेस और स्ट्रग्ल के साथ जीवन जीने के लिए मजबूर है. लोगों की इन्हीं परेशानियों का हल करने का काम कर रहा है द होलिस्टिक लिविंग.

बस्सी

Published: December 25, 2021 12:46:12 am

एक इंसान का जीवन हमेशा ही तनाव और संघर्ष से भरा हुआ रहता है. अनजाने में ही इंसान आज भी एक डर, स्ट्रेस और स्ट्रग्ल के साथ जीवन जीने के लिए मजबूर है. लोगों की इन्हीं परेशानियों का हल करने का काम कर रहा है द होलिस्टिक लिविंग. द होलिस्टिक लिविंग भारत का प्रमुख सामुदायिक कल्याण मंच है, जो वेलनेस विशेषज्ञों और चिकित्सकों को ऑनलाइन लेकर आते हैं. यह संस्थान अपनी पूरी लगान और कार्तव्यनिष्ठा के साथ लोगों को मानसिक, भावनात्मक, संबंध, आहार और पोषण, करियर और स्वयं सहायता, तनाव, चिंता, अकेलापन और अवसाद जैसे मुद्दों से छुटकारा पाने में मदद कर रहा है
मानसिक स्वास्थ्य और भावनात्मक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने की कोशिश कर रहा : द होलिस्टिक लिविंग
मानसिक स्वास्थ्य और भावनात्मक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने की कोशिश कर रहा : द होलिस्टिक लिविंग
कोरोना के दौर में भारत में मानसिक स्वास्थ्य पर बात करना एक महत्वपूर्ण विषय बन गया है. ये वो दौर है जहां पर लोग मेंटल हेल्थ के बारे में बात करने से हिचकिचाते नहीं है. ऐसे में द होलिस्टिक लिविंग लोगों में संवेदनशीलता और समावेश की बढ़ती भावनाओं के साथ, मानसिक स्वास्थ्य के अलावा भावनात्मक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने की कोशिश कर रहा है. हमारा मानना है कि एक इंसान के नजरिए में सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य ही नहीं बल्कि घर, परिवार, संबंध, आर्थिक सुरक्षा, करियर और भी कई चीजें शामिल होती हैं. आज से लगभग 30 साल पहले किसी नए छात्र का कॉलेज जाना और वहां सीनियर द्वारा उसकी रैंगिग एक आम बात मानी जाती थी. पर अब ये सभी बातें बच्चों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर असर डाल रही है. पहले माता-पिता बच्चों को गलतियों पर डांटते थे. उनका मानना था कि ऐसा करने से बच्चे गलतियां दोहराते नहीं है पर अब बच्चों को डांटना, उन्हें पीटना मेंटल हेल्थ के लिए हानिकारक माना जाता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Coronavirus : भारत में 23 जनवरी को आएगा कोरोना की तीसरी लहर का पीक, IIT कानपुर के प्रोफेसर ने की ये भविष्यवाणीभारत के कोरोना मामलों में आई गिरावट, पर डरा रहा पॉजिटिविटी रेटअरुणाचल प्रदेश में भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर 4.9 मापी गई तीव्रताभारत में निवेश का बेहतरीन समय, अगले 25 साल का प्लान बना सकते हैं- दावोस सम्मेलन में बोले पीएम मोदीभगवंत मान हो सकते हैं पंजाब में AAP के सीएम उम्मीदवार! केजरीवाल आज करेंगे घोषणाप्री-बोर्ड एग्जाम का शेड्यूल जारी, स्टूडेंट्स को इस काम के लिए जाना होगा स्कूलUP Police Recruitment 2022: 10 वीं पास युवाओं को सरकारी नौकरी का मौका, यूपी पुलिस ने निकाली भर्ती, 69,100 रुपये मिलेगी सैलरीOmicron Symptoms: ओमिक्रॉन के ये लक्षण जिसके बारे में आपको भी पता होना चाहिए,जानिए कितने दिनों तक रहते हैं ये शरीर में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.