इन गांवों में रोडवेज बस सेवा का अभाव

ग्रामीणों को हो रही परेशानी, गांवों में आजादी के सात दशक बाद भी चिकित्सा, परिवहन, सड़क जैसी मूलभूत सुविधाओं का अभाव है

By: Gourishankar Jodha

Published: 02 Nov 2020, 11:48 PM IST

विराटनगर। प्रदेश में सरकार विकास के बड़े-बड़े दावे करती है, लेकिन हकीकत से कोसों दूर है। कई गांवों में तो आज भी मूलभूत सुविधाओं का अभाव है। ब्लॉक के कई पंचायत मुख्यालय व गांवों में आजादी के सात दशक बाद भी चिकित्सा, परिवहन, सड़क जैसी मूलभूत सुविधाओं का अभाव है। ऐसी ही स्थिति विराटनगर उपखंड की दर्जनों ग्राम पंचायत मुख्यालय व गांवों की है। जहां परिवहन सुविधाओं के लिए रोडवेज की बसों का अभाव है।
ऐसे में ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। सरकारी बसों के अभाव में ग्रामीणों को अवैध वाहनों का सहारा लेना पड़ता है। उपखंड के ग्राम पंचायत कुहाडा, पापडा, सोठाना, छीतोली, जयसिंहपुरा, मैड, तालवा, जोधूला, पालडी, आमलोदा, भामोद, तेवडी, नवरंगपुरा ग्राम पंचायतों में सरकारी रोडवेज बसों का संचालन नहीं होने से यहां ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

इन मार्गोंे पर रोडवेज बस की दरकार
मैड-शाहपुरा वाया बीलवाडी, मैड से विराटनगर वाया तेवडी, मैड से मनोहरपुर वाया पालडी खोरा, विराटनगर से पावटा वाया छीतोली जयसिंहपुरा, विराटनगर-मनोहरपुर वाया नवरंगपुरा भामोद, सड़क मार्गों पर रोडवेज की बस सेवा का अभाव है। उपखंड में जहां सरकारी बस सेवा नहीं है वहां की ग्राम पंचायतों के गांवों में लोगों को आवागमन के लिए निजी वाहनों का सहारा लेना पड़ता है। इस कारण ये निजी वाहन चालक ग्रामीणों से मनमाना किराया वसूलते हैं।

हजारों लोगों की प्रतिदिन आवाजाही
इन ग्राम पंचायतों के अलावा इनसे जुड़े करीब पांच दर्जन गांवों के लोगों का रोजमर्रा के कार्यों के लिए एवं विद्यार्थियों का कॉलेज व स्कूल में आने जाने के लिए रोजाना शाहपुरा, विराटनगर, मनोहरपुर सहित आसपास के बड़े कस्बों में आना-जाना रहता है। लेकिन रोडवेज बसों के अभाव में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

इनका कहना
रोडवेज बस सेवा से वंचित गांवों में बस सेवा शुरू करवाने के लिए उच्चाधिकारियों को अवगत कराया जाएगा।
राजवीर सिंह यादव, उपखंड अधिकारी विराटनगर

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned