लॉकडाउव अपडेट: यहां शाम 6 बजे बाद अवैध शराब का कारोबार चरम पर

जिम्मेदार अधिकारी, एक लाइसेंस से संचालित है अनेक दुकानें, शाम 6 बजे बाद भी बिकती है शराब की बोतलें, रात चढऩे के साथ ही बढऩे लगते है दाम, दोगुने दाम पर बिकती है शराब की बोतलें

 

By: Gourishankar Jodha

Published: 16 May 2020, 11:47 PM IST

गढ़टकनेत। कोरोना संक्रमण के दौरान लगे लॉकडाउन में शराब माफियाओं को बोलबाला है। सरकार के नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है। नियमों की माने तो आबकारी की दुकानें सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे खुलने का समय निर्धारित है, लेकिन यू तो नियमानुसार शाम 6 बजे के बाद दुकानें बंद हो जानी चाहिए, लेकिन यहा ऐसा नहीं कोई नियम नहीं है। अधिकांश दुकानें रात 10 से 11 बजे तक खुली रहती है। अजीतगढ़ क्षेत्र के गांवों एवं कस्बों में संचालित आबकारी विभाग की अनदेखी के चलते दुकानदार नियमों को ताख में रखकर धड़ल्ले से कानून की धज्जियां उड़ा रहे है।

रातभर शराबियों का जमावड़ा
हाल यह है कि एक-एक लाइसेंस से गांवों-ढाणियों में 4-5 दुकानें संचालित हो रही हैं और रातभर शराब बिक्री से भी कोई बाज नहीं आ रहा। रात में ग्राहकों से शराब की एमआरपी से 50 से 60 रुपए तक अधिक वसूले जा रहे हैं। क्षेत्रीय लोगों ने इलाके में संचालित शराब की दुकान संचालको की मनमानी के विरूद्व कार्रवाई की मांग की है। ग्रामीणों का कहना है कि शराब की दुकान रातभर तक खुलने के कारण शराबियों का जमावड़ा इन दुकानों के इर्द-गिर्द लगा रहता है। रातभर शराब बिक्री पर अंकुश लगवाने की मांग आबकारी विभाग व जिला कलक्टर से की है।

इनका कहना
निर्धारित समय के बाद शराब की बिक्री हो रही है तो वो गलत है। नियम विरूद्ध दुकानों का संचालन करना भी गलत है। एक लाइसेंस से अधिक दुकानें चल रही है तो शीघ्र ही आवश्यक कार्रवाई करके इनके खिलाफ सख्त कदम उठाया जाएगा।
यादराम दहियां,जिला आबकारी अधिकारी, सीकर

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned