Monkey attack : दूसरे दिन 2 बच्चों को काटा

सरपंच प्रतिनिधि ने कोटपूतली उपखंड अधिकारी को ज्ञापन देकर काटने वाले बंदरों को प$कडऩे की मांग की

By: Gourishankar Jodha

Published: 09 Jan 2021, 05:56 PM IST

पावटा। कस्बे वासी बंदरों के आतंक से परेशान है, दो दिन में बंदरों ने दो बच्चों पर हमला कर जख्ती कर दिया, जिनका उपचार चल रहा है। मिली जानकारी के अनुसार जोशियो के मौहल्ले में बंदर से ललित जोशी के लड़के को व प्रदीप गढवाल के परिवार में एक बच्चे को काट कर जख्मी कर दिया।
ललित जोशी ने उसका लड़का तन्नू कमरे में सो रहा था। अचानक बन्दर ने कमरे में आकर तन्नू की छाती पर बैठ कर काट लिया। तन्नू के हल्ला मचाने के बाद घर वाले व आस पास के लोगों ने बन्दर को भगाया। तन्नू के सिर में घाव हो गया। इसी प्रकार प्रदीप गढवाल के परिवार में एक बालक को काट कर जख्मी कर दिया।

20 दिन में तीसरी बार हमला
उल्लेखनीय है कि गुरुवार को बंदर ने अशोक बंसल परिवार के एक सदस्य पर 20 दिन में तीसरी बार हमला कर लगातार दूसरी बाद काट कर जख्मी कर दिया था। कस्बेवासियो ने बताया कि काट कर खानेवाला बन्दर इसी क्षेत्र में रहता है जो हमला कर गत २ माह में एक दर्जन से अधिक लोगों को काट कर जख्मी कर चुका है। लगातार कस्बे में बढ़ रही बंदर के काटने की घटनाओं को लेकर कस्बेवासियों में आक्रोश बना हुआ है।

ज्ञापन देकर की बंदर पकड़वाने की मांग
इधर पावटा सरपंच प्रतिनिधि निर्मल पंसारी के नेतृत्व में वार्डपंच लोकेश शर्मा, संजय कुमार सैन, रामसिंह खारवाल सहित कई वार्ड पंचों ने कोटपूतली उपखण्ड अधिकारी सुनीता मीणा से मिल कर कस्बे में काट कर खाने वाले बन्दर को पकड़वाने के लिए एक ज्ञापन भेंट किया। ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि गत सप्ताह मथुरा से बंदर पकडऩे वाले ठेकेदार बुला कर करीब 35 बंदर पकड़वाए है।

शीघ्र बन्दर को पकड़वाने का दिया भरोसा
एक बंदर जो कस्बेवासियों को लगातार काट रहा है, वह पकड़ में नहीं आया, जिसके कारण ये घटनाएं हो रही है। इस बन्दर को वन विभाग द्वारा ट्रन्कूलाइजर कर पकड़वा कर अन्यत्र छुड़वाने की राहत प्रदान की जाए। इस शिष्ट मंडल को उपखण्ड अधिकारी ने शीघ्र बन्दर को पकड़वाने के लिए वन विभाग की टीम भैजने का भरोसा दिया।

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned