Murder-धारदार हथियार से गला गोदकर महिला की हत्या, इलाके में फैली सनसनी


एक ही परिवार में हत्या की तीसरी वारदात

By: Satya

Published: 28 Jan 2021, 09:15 PM IST


शाहपुरा/मनोहरपुर। शाहपुरा पुलिस थाना इलाके के ग्राम घासीपुरा की ढाणी नृसिंहवाली में बीती रात एक महिला की किसी धारदार हथियार से गला गोदकर निर्मम हत्या कर शव खेत में डाल दिया। महिला की हत्या की इस वारदात से इलाके में सनसनी फैल गई। इसी ढाणी के एक ही परिवार में हत्या की यह तीसरी वारदात है। सुबह खेत में शव पड़ा मिलने की सूचना पर काफी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ एकत्रित हो गई। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस के आला अधिकारी, एफएसएल व डॉग स्क्ववायड टीम मौके पर पहुंची। टीम ने मौके से नमूने एकत्रित किए है। इस दौरान ग्रामीण व परिजन हत्या के मामले का खुलासा करने की मांग पर अड़ गए तथा शव को उठाने से इंकार कर दिया। बाद में अधिकारियों के तीन दिन में घटना का खुलासा करने का आश्वासन देने पर ग्रामीण शांत हुए।


जानकारी के अनुसार घासीपुरा की ढाणी नृसिंहवाली में मृतका संज्या देवी (40 ) पत्नी श्रवण मीणा अपने परिवार के साथ रहती थी। मृतका का पति मजदूरी करता है। उसके एक बेटी और दो बेटे हैं। जिनमें सबसे बडे बेटे की उम्र करीब २३ वर्ष, बेटी की उम्र २१ वर्ष और छोटे बेटे की उम्र करीब १९ वर्ष है। बीती रात अज्ञात बदमाशों ने संज्या देवी की किसी धारदार हथियार से गला गोदकर हत्या कर शव को घर के पास सडक़ किनारे बने खाली खेत में डाल दिया। हत्या करने वाले ने मृतका के गले पर कपड़ा लपेट दिया, ताकि खून नहीं बिखरे। गुरूवार सुबह ग्रामीणों ने संज्या देवी का शव खेत में पड़ा देखा तो यहां काफी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ एकत्रित हो गई।

ग्रामीणों की सूचना पर एएसपी भरतलाल मीणा, डीएसपी सुरेंद्र कृष्णिया, डीएसपी दिनेश यादव, शाहपुरा कार्यवाहक थाना प्रभारी राजेन्द्र सिंह परिहार मय जाब्ते के मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का मौका-मुआयना किया। पुलिस ने जयपुर से एफएसएल व डॉग स्क्ववायड टीम को मौके पर बुलाया। टीम ने घटनास्थल से नमूने एकत्रित किए।


इधर, हत्या की वारदात से गुस्साए परिजन व ग्रामीणों ने पुलिस को शव नहंी उठाने दिया। ग्रामीण व परिजन मामले का खुलासा करने की मांग करने पर अड गए। बाद में कांग्रेस नेता मनीष यादव व सरपंच प्रतिनिधि धर्मसिंह यादव भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने पुलिस अधिकारियों व ग्रामीणों से वार्ता कर समझाईश की। बाद में पुलिस अधिकारियों के तीन दिन में मामले का खुलासा करने के आश्वासन पर ग्रामीण शांत हुए और शव को उठाने दिया। इसके बाद शव को शाहपुरा के राजकीय अस्पताल की मोर्चरी ले जाया गया। अस्पताल में भी एक बार फिर ग्रामीणों ने शव लेने से इंकार कर दिया। बाद में समझाईश पर ग्रामीण माने। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया।

इस संबंध में मृतका के भाई बनवारी लाल ने हत्या का मामला दर्ज कराया है। पहले मृतका के पति श्रवण मीणा ने पुलिस को रिपोर्ट दी, लेकिन बाद में मृतका के भाई बनवारी की रिपोर्ट ली गई।

पूर्व में हुई हत्या के मामलों का नहीं हुआ खुलासा
ग्रामीणों ने पुलिस अधिकारियों को बताया कि घासीपुरा गांव में पूर्व में पांच घटनाएं हो चुकी है, जिनका कोई खुलासा नहीं हो पाया। इनमें से इस ढाणी में तीन घटनाएं हो चुकी है। ग्रामीणों ने बताया कि ढाणी नृसिंहवाली में एक ही परिवार के करीब 5-6 मकान है। पूर्व में भी इस ढाणी में महिला समेत दो जनों की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। परिजनों ने पुलिस थाने में हत्या का मामला दर्ज कराया था, लेकिन उन दोनों हत्या की वारदातों का कोई खुलासा नहीं हुआ। अब यह हत्या की तीसरी घटना है। ग्रामीणों के मुताबिक 2014 में ढाणी निवासी लक्ष्मण मीणा की हत्या हो गई थी। इसके बाद 2018 में सुमन देवी की यहां स्थित कुएं में लाश मिली थी। अब हत्या की तीसरी वारदात घटित होने से परिजन व ग्रामीणों में रोष व्याप्त रहा। उन्होंने पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठाए।

परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल
सुबह खेत में संज्या देवी का शव मिलने के बाद मृतका के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल था। मृतका की बेटी मनीषा बार-बार बेसुध हो रही थी। परिजन व रिश्तेदार मनीषा को ढांढस बंधा रहे थे। मृतका की बेटी मनीषा बार-बार अपनी मां को पुकार रही थी। उसकी आंखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे। अन्य परिजनों का भी हाल बेहाल था। मृतका के एक बेटी और दो बेटे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned