अब शिक्षा संकुल में नो मास्क, नो एंट्री . राजस्थान संगीत संस्थान ने शुरू किया अभियान


बिना मास्क पहने लोगों की समझाइश
कोरोना से बचाव का दिया संदेश

By: Rakhi Hajela

Published: 30 Sep 2020, 11:41 AM IST

राज्य में शुरू किए गए नो मास्क नो एंट्री अभियान राजधानी में जोर पकड़ रहा है। विभिन्न सामाजिक संस्थांए इस अभियान में आगे आ रही हैं तो सरकारी कार्यालयों में भी इसे लेकर जागरुकता देखने को मिल रही है। अब शिक्षण संस्थान भी अपने सामाजिक उत्तरदायित्व का निवर्हन करन से पीछे नहीं हैं। इस सामाजिक उत्तरदायित्व की पूर्ति करने में जुटा है राजस्थान संगीत संस्थान। संस्थान की ओर से शिक्षा संकुल के मुख्यद्वार पर नो मास्क नो एंट्री कैम्पेन की शुरुआत की गई। संस्थान की प्रिंसिपल और राष्ट्रीय सेवा योजना की जिला समन्वयक डॉ. स्निग्धा शर्मा के नेतृत्व में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। डॉ. शर्मा और उनकी टीम ने कोरोना से बचाव का संदेश देते पैम्पलेट्स और मास्क वितरित किए।
आमजन को किया जागरुक
आपको बता दें कि कार्यक्रम में राजस्थान संगीत संस्थान के शिक्षकों और कर्मचारियों के साथ साथ एनएसएस के स्वयंसेवकों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इस दौरान शिक्षा संकुल के बाहर कई लोग बिना मास्क लगाए भी बैठे हुए थे, जिनकी समझाइश की गई और उन्हें मास्क का उपयोग करने के लिए कहा गया। इसी प्रकार वाहन चालकों को भी
मास्क की अहमियत बताई गई। शिक्षा संकुल में आने वाले कई लोग ऐसे थे जिन्होंने मास्क नहीं लगाया था, उनके वाहनों को संकुल के मुख्यद्वार पर रोका गया और उन्हें कोविड 19 की गाइड लाइन की पालना करने के लिए प्रेरित किया गया।
कच्ची बस्तियों में देंगे जागरुकता का संदेश
आपको बता दें कि संगीत संस्थान की ओर से अब कच्ची बस्ती के लोगों को भी कोविड 19 के प्रति जागरुकता का संदेश् दिया जाएगा। संस्थान ने कुछ वॉलेंटियर्स के जरिए इस काम को अंजाम पूरा करेगा। यह वॉलेंटियर्स कच्ची बस्ती में घर घर जाकर लोगों को कोविड के बारे में बताएंगे साथ ही वहां रहने वाले लोगों को मास्क भी वितरित किए जाएंगे।
इनका कहना है,
संस्थान ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से कोरोना से बचाव के लिए नो मास्क नो एंट्री कैम्पेन के तहत शिक्षा संकुल में इसकी शुरुआत की है। हमने यहां लोगों को मास्क वितरित किए साथ ही पैम्पलेट्स भी दिए। जिन्होंने मास्क नहीं लगाए थे उनकी समझाइश की गई। हम कच्ची बस्ती के लोगों को भी अब जागरुक करेंगे।
डॉ. स्निग्धा शर्मा, प्रिंसिपल
राजस्थान संगीत संस्थान

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned