पेयजल संकट से त्रस्त महिलाओं का फूटा आक्रोश, स्टेट हाइवे जाम कर किया विरोध प्रदर्शन

जाम से शाहपुरा-अजीतगढ़ स्टेट हाइवे पर वाहनों की लगी कतार, पुलिस व जलदाय विभाग के अधिकारियों ने समझाइश कर मामला शांत कराया

By: Satya

Published: 14 Oct 2021, 10:32 PM IST


शाहपुरा।

पिछले कई दिनों से पेयजल संकट से जूझ रहे शाहपुरा नगरपालिका के वार्ड 32 स्थित सेडकाबास, हरीजन मौहल्ला, कुम्हारों का मौहल्ला व आसपास के बाशिन्दों का गुरूवार को गुस्सा फूट पड़ा। आक्रोशित महिलाओं ने सुबह जलदाय विभाग के जेईएन कार्यालय पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया और मौजूद कर्मचारियों को खरी खोटी सुनाई। इस दौरान गुस्साई महिलाओं ने जलदाय कार्यालय के सामने शाहपुरा-नीमकाथाना स्टेट हाइवे पर जाम लगाकर जमकर नारेबाजी भी की। जाम से स्टेट हाइवे पर वाहनों की कतारें लग गई।

सूचना पाकर मौके पर पहुंची शाहपुरा थाना पुलिस व जलदाय विभाग के अधिकारियों ने समझाईश की। जलदाय कर्मियों ने शीघ्र समस्या का समाधान करने का आश्वासन देकर मामला शांत कराया।

प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने बताया कि शाहपुरा नगरपालिका के वार्ड 3२ स्थित सेड का बास, हरिजन मोहल्ला व कुम्हारों का हौहल्ला में कई दिनों से पेयजल संकट बना हुआ है। पेयजल समस्या के चलते बाशिन्दों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पेयजल समस्या का समाधान नहीं होने पर गुरुवार को नगरपालिका पार्षद सरवर देवी व ग्यारसीलाल के नेतृत्व में बड़ी संख्या में महिलाएं जलदाय विभाग के कार्यालय पहुंच गई तथा कार्यालय के गेट के बाहर मटके फोड़ प्रदर्शन किया।

इस दौरान जलदाय विभाग के अधिकारियों के नहीं मिलने पर उनमें रोष व्याप्त हो गया और वे कार्यालय के सामने शाहपुरा-नीमकाथाना स्टेट हाइवे पर आकर बैठ गई और विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया। इस दौरान जलदाय विभाग के अधिशासी अभियंता ने समस्या का शीघ्र समाधान करने का आश्वासन दिया। तब जाकर महिलाएं शांत हुई और जाम खोला। महिलाएं समस्या का समाधान नहीं होने पर दुबारा से उग्र आंदोलन की चेतावनी देकर वापस लौट गई। इस दौरान विमला देवी, संतोष देवी, नंदलाल, मालीराम, सुरेश, महावीर, अशोक सहित बड़ी संख्या में महिला, पुरुष मौजूद थे।

स्टेट हाइवे जाम से वाहनों की लगी कतारें
स्टेट हाइवे पर जाम लगाने से दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गई। इस दौरान महिलाओं ने जमकर नारेबाजी भी की। महिलाओं के जाम लगाने व विरोध प्रदर्शन की सूचना पर शाहपुरा पुलिस मौके पर पहुंची तथा महिलाओं को समझाया, लेकिन महिलाएं जलदाय विभाग के अधिकारियों को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़ी रही। बाद में शाहपुरा थाना प्रभारी विजेंद्र सिंह व जलदाय विभाग के अधिशासी अभियंता विशाल सक्सेना मौके पर पहुंचे तथा प्रदर्शन कर रही महिलाओं से समझाईश की।

एक-दो बाल्टी आता है पानी, टैंकरों का लेना पड़ रहा सहारा
इस दौरान प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने जलदाय विभाग के अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए बताया कि गत कई माह से उनके मोहल्ले में पेयजल संकट गहराया हुआ है। मौहल्ले में कई घरों में मात्र एक या दो बाल्टी ही पेयजलापूर्ति होती है। इससे बाशिन्दों को काफी परेशानी होती है।

महिलाओं ने बताया कि नलों में पर्याप्त पानी नहीं आने से स्वयं के स्तर पर पानी के निजी टैंकर मंगवाने पड़ते है। टैंकर वाले भी मनमाना दाम वसूल कर रहे है। पेयजल समस्या के कारण लोगों की दिनचर्या भी प्रभावित हो रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि जलदाय विभाग के अधिकारियों को कई बार अवगत कराने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो रहा।

शाहपुरा के वार्ड 32 स्थित सेडकाबास, हरीजन बस्ती, कुम्हारों का हौहल्ला में सुबह पेयजल सप्लाई की जांच कराकर जहां भी समस्या होगी, समाधान कर दिया जाएगा। इसके लिए वार्डवासियों को समझाइश कर दी है।---------विशाल सक्सैना, एक्सईएन, जलदाय विभाग, शाहपुरा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned