पंचायत चुनाव में जयपुर जिले की बीए—बीएड बेटी के आगे चुनावी राजनीति गौण, 26 साल की बेटी को निर्विरोध चुना सरपंच

jaipur panchayat किशनपुरा पंचायत में सरपंच सहित सभी वार्ड पंच निर्विरोध निर्वाचित

आंतेला. क्षेत्र में मंगलवार को चुनाव प्रक्रिया के तहत मंगलवार को नाम वापसी के बाद सरपंच व पंच के दावेदारों की तस्वीर साफ होने के साथ ही चुनावी सरगर्मी बढ़ गई है। इधर ग्रामीणों की सार्थक पहल पर विराटनगर पंचायत समिति में नवगठित ग्राम पंचायत किशनपुरा में सरपंच पद पर कमलेश कुमारी बुनकर को निर्विरोध निर्वाचित किया गया। नवगठित ग्राम पंचायत में पहली बार गांव की बेटी को सरपंच की कमान सौंपकर नया कीर्तिमान स्थापित किया है। इस दौरान सरपंच सहित सभी पांच वार्डपंच निर्विरोध घोषित हुए हैं। किशनुपरा ग्राम पंचायत में सरपंच पद के लिए अनुसूचित जाति की महिला की सीट आरक्षित थी।

रिटनिंग अधिकारी ने निर्वाचित सरपंच कमलेश कुमारी sarpach kamlesh kumari व सभी निर्वाचित वार्डपंचों को निर्वाचन पत्र सौंपे। इस दौरान नवनिर्वाचित सरपंच व पंचों को शपथ दिलाई। रिटनिंग ऑफिसर कानाराम जाट व सहायक रिटनिंग ऑफिसर लक्ष्मी नारायण मीणा ने बताया कि नामांकन प्रक्रिया के तहत सरपंच पद के लिए पांच आवेदन प्राप्त हुए थे। जिनमें मंगलवार को चार महिलाओं ने नाम वापसी के बाद कमलेश कुमारी का एक मात्र आवेदन शेष रह गया। नाम वापसी के निर्धारित समय के बाद कमलेश कुमारी को निर्विरोध सरपंच व वार्ड संख्या एक से रत्तीराम मीणा, वार्ड दो से धन्नाराम, वार्ड तीन से मंजू देवी, वार्ड चार से सेडी देवी, वार्ड पांच से जुगलकिशोर यादव को निर्विरोध पंच निर्वाचित घोषित किया गया है।

आतिशबाजी की, मिठाई बांटी

किशनपुरा कोरम का निर्विरोध चयन होने पर स्थानीय ग्रामीणों में खुशी की लहर दौड़ गई। ग्रामीणों ने रामावि के सामने आतिशबाजी कर मिठाई बांटी। वहीं नवनिर्वाचित सरपंच व वार्ड पंचों को बधाई देने वालों को तांता लग गया। गौरतलब है कि नवगठित पंचायत में सरपंच निर्विरोध चुनने के लि पूर्व में सर्व समाज की बैठक कमलेश कुमार के नाम पर मोहर लगा दी। इस दौरान पूर्व प्रधानाचार्य बंशीधर यादव, पूर्व उपसरपंच पूरण मल जाट, चंन्दाराम स्वामी, गंगाराम, जयराम यादव, बालूराम, गोकूल यादव, ग्यारसीलाल, पंचायत सहायक पूरण सैनी सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

पंचायत का विकास पहली प्राथमिकता

ग्राम पंचायत की नवनिर्वाचित सरपंच ने पत्रिका को बताया कि आमजन के सहयोग से ग्राम पंचायत क्षेत्र का विकास पहली प्राथमिकता है। इसके लिए हमेशा तत्पर रहूंगी। सड़क, पानी, बिजली आदि मूलभूत सुविधाओं सहित क्षेत्र में बालिका शिक्षा उच्च शिक्षा पर बढ़ावा दिया जाएगा। सरपंच ने नारी उत्थान के लिए विशेष कार्य करने की बात कहीं। उन्होंने कहा कि माता पिता के अलावा बड़े भाई एएसआई व छोटे भाई से प्रेरणा मिली है।

बीए व बीएड को प्राथमिकता

सरपंच कमलेश बीए व बीएड पास BA-B.Ed daughter of Jaipur है। उसका गांव के चहुंमुखी विकास का सपना है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव की पढ़ी लिखी बेटी को निर्विरोध सरपंच चुनने से अन्य गांव की बेटियों का मान बढ़ा है। ग्रामीणों ने सरपंच पद के निर्विरोध चुनाव में शिक्षा को विशेष प्राथमिकता दी है।

Surendra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned