Panther attack : फिर इस क्षेत्र के ग्रामीणों में दहशत

गांव में पिछले 15 दिनों से पैंथर पहाड़ी से उतर कर। गांव की आस पास जंगल में आवाजाही कर रहा है, रामसिंहपुरा में पैंथर ने बछड़ी का किया शिकार, पैंथर की आवाजाही से दहशत में ग्रामीण

By: Gourishankar Jodha

Published: 27 Jul 2020, 08:20 PM IST

मैड। क्षेत्र में दिनों दिन बढ़ती जंगली जानवरों व पैंथर की आवाजाही से आए दिन मवेशियों के शिकार की घटनाओं से चरवाहे परेशान है तो ग्रामीणों में दहशत बनी हुई है।
ग्राम पंचायत पालड़ी के बाल मित्र ग्राम रामसिंहपुरा में सोमवार वह सुबह जंगल में पैंथर ने अचानक बछड़ी पर हमला कर उसे जख्मी कर दिया। जिस पर बछड़ी शाम को मर गई।

पत्थर फैंककर छुड़वाया बछड़ी को
बाल आश्रम कार्यकर्ता धोलाराम पोसवाल ने बताया कि फूलाराम गुर्जर गांव के पास ही जंगल में अपने मवेशियों को चरा रहा था। अचानक पैंथर ने आकर बछड़ी पर हमला कर दिया। जिस पर फूलाराम के चिल्लाने पर अन्य चरवाहों, ग्रामीणों ने शोर कर पत्थर फेंककर, पैंथर से बछड़ी को छुड़वाया। हमले से बछड़ी घायल हो गई, जिसने शाम को दम तोड़ दिया।

पैंथर ने बकरें को भी जख्ती किया था
पोसवाल ने बताया कि गांव में पिछले 15 दिनों से पैंथर पहाड़ी से उतर कर। गांव की आस पास जंगल में आवाजाही कर रहा है। जिससे ग्रामीणों में दहशत बनी हुई है। पिछले दिनों इसी जगदीश प्रसाद गुर्जर के बकरे को भी पैंथर ने गंभीर रूप से जख्मी कर दिया था। उमराव गुर्जर की गाय को भी बघेरे ने जख्मी कर दिया था। सप्ताह भर से गांव के पशुपालकों व ग्रामीणो में पैंथर को लेकर डर बना हुआ है।

पैंथर को रेस्क्यू का आश्वासन
घटना को लेकर ग्रामीणों ने दूरभाष पर वन विभाग के कर्मचारियों को अवगत करवाया तो मौके पर फॉरेस्टर जगदीश प्रसाद जाट ने पहुंचकर आक्रोशित ग्रामीणों को विश्वास दिलाया की जल्द ही पिंजरा लगाकर पैंथर को रेस्क्यू करवाया जाएगा। इस मौके पर ग्रामीणों ने पिंजरा लगवा कर पैंथर को रेस्क्यू करवाने की मांग की। इस संबंध में बी ल वा डी वन विभाग रेंजर सुमेर सिंह ने बताया कि पैंथर ने जंगल में बछड़ी पर हमला किया है। वन कर्मियों की गश्त बढ़ा दी गई है।

Show More
Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned