scriptPatrika news Impact...Pension of handicapped Shravan Singh approved, h | Patrika news Impact...अपाहिज श्रवण सिंह की पेंशन हुई स्वीकृत, आंखों से छलकी खुशी | Patrika News

Patrika news Impact...अपाहिज श्रवण सिंह की पेंशन हुई स्वीकृत, आंखों से छलकी खुशी


शाहपुरा विधायक, एसडीएम व विकास अधिकारी ने शिविर में सौंपा पेंशन स्वीकृति आदेश

 


दिव्यांग ने पत्रिका को दिया साधुवाद

बस्सी

Published: October 22, 2021 09:48:55 pm


शाहपुरा।

शाहपुरा की ग्राम पंचायत साईवाड़ के रघुनाथपुरा गांव निवासी दोनों हाथ और एक पैर से अपाहिज श्रवण सिंह भाटी की आखिरकार एक माह बाद प्रशासन ने सुध ले ली है। इस मामले में राजस्थान पत्रिका की ओर से लगातार खबरें प्रकाशित कर दिव्यांग की समस्या प्रमुखता से उजागर करने पर हरकत में आए उपखण्ड प्रशासन ने समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों से वार्ता कर तकनीकी समस्या को दूर कर शुक्रवार को लेटकाबास पंचायत में आयोजित प्रशासन गांवों के संग अभियान शिविर में उसे पेंशन स्वीकृति आदेश दिया गया।
Patrika news Impact...अपाहिज श्रवण सिंह की पेंशन हुई स्वीकृत, आंखों से छलकी खुशी
Patrika news Impact...अपाहिज श्रवण सिंह की पेंशन हुई स्वीकृत, आंखों से छलकी खुशी
पीपीओ प्राप्त करते ही दिव्यांग श्रवण सिंह की अंाखों से खुशी छलक पड़ी। इस दौरान क्षेत्रीय विधायक आलोक बेनीवाल, उपखण्ड अधिकारी मनमोहन मीणा व विकास अधिकारी रामचन्द्र मीणा ने दिव्यांग श्रवण सिंह को शिविर में पेंशन स्वीकृति आदेश सौंपा। जिस पर उसने खुशी जाहिर की।
एसडीएम मनमोहन मीणा व विकास अधिकारी रामचन्द्र मीणा ने बताया कि दिव्यांग का पूर्व में पेंशन के लिए किया गया आवेदन खारिज होने से पेंशन स्वीकृति में तकनीकी समस्या आ रही थी। जिस पर एसडीएम ने समाज कल्याण विभाग के अतिरिक्त निदेशक व उपनिदेशक से वार्ता कर समस्या से अवगत कराया और पुन: आवेदन भिजवाकर उसकी पेंशन स्वीकृत कराई। एसडीएम ने बताया कि शाहपुरा की साईवाड़ पंचायत जमवारामगढ़ में दर्शाए जाने से भी समस्या आ रही थी। इसे दुरूस्त कराया गया है।
बिजली करंट से हुए हादसे में हुआ अपाहिज, आर्थिक संकट से जूझ रहा परिवार

रघुनाथपुरा निवासी दिव्यांग श्रवण सिंह भाटी ने बताया कि वह आंध्रप्रदेश में एक आटा मील में मजदूरी कर अपने परिवार का पालन पोषण करता था। करीब दो साल पहले आटा मील में बिजली करंट की चपेट में आने से हुए हादसे में उसने दोनों हाथ व एक पैर हमेंशा के लिए खो दिया। अपाहिज होने से अब वह मेहनत का कोई कार्य नहीं कर सकता। ऐसे में उसके परिवार के सामने आर्थिक संकट उत्पन्न हो गया।
इसके चलते उसने 20 सितम्बर को पेंशन के लिए ऑनलाइन आवेदन किया, लेकिन 8 अक्टूबर को उसका आवेदन निरस्त कर दिया। इसके बाद उसके कई बार सरकारी कार्यालयों के चक् कर लगाए, लेकिन उसे राहत नहीं मिली। इसके बाद 12 अक्टूबर को ग्राम पंचायत साईवाड़ में आयोजित प्रशासन गांवों के संग अभियान में दिव्यांग पेंशन के लिए पहुंचकर प्रशासन से गुहार की। इसके 10 दिन बाद २१ अक्टूबर को बाडीजोडी पंचायत में आयोजित शिविर में भी उसने पहुंचकर गुहार की, लेकिन तकनीकी खामी के चलते उसकी पेंशन स्वीकृत नहीं हुई।
पत्रिका ने उजागर की पीड़ा तो मिली राहत
इस मामले में राजस्थान पत्रिका ने 13 अक्टूबर को दिव्यांग पेंशन के लिए डेढ माह से दफ्तरों के चक् कर और 22 अक्टूबर को दिव्यांग को अभियान में भी नहीं मिल रही राहत शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर उसकी समस्या को प्रमुखता से उजागर किया था।
जिस पर उपखण्ड प्रशासन ने समाज कल्याण विभाग के उच्चाधिकारियों से वार्ता कर तकनीकी समस्या को दूर कराकर उसकी पेंशन स्वीकृत कराई। दिव्यांग ने इसके लिए राजस्थान पत्रिका को साधुवाद देते दिया है। साथ ही दोनों बेटियों को भी पालनहार योजना का लाभ दिलाने की प्रशासन से गुहार की। जिस पर एसडीएम मीणा ने कहा कि उसके लिए भी आवेदन भेज रखा है। शीघ्र राहत लाभ दिलाया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.