उत्पाद जैविक आधार पर तैयार

जैविक खेती व जैविक उद्यान का निरीक्षण कर सब्जियां उगाने व जैविक उत्पाद प्रयोग में लेने पर जोर दिया

By: Gourishankar Jodha

Updated: 19 Dec 2020, 11:51 PM IST

पचकोडिय़ा। कस्बे के समीप मुण्डोती ग्राम पंचायत में स्थित जैविक खेती व जैविक उद्यान का निरीक्षण कर सब्जियां उगाने व जैविक उत्पाद प्रयोग में लेने पर जोर दिया गया। समाजसेवी मेवाराम चौधरी ने बताया कि शुक्रवार को कृषि पर्यवेक्षक मंजू जीतरवाल, हंसा मीणा सहित अनेक लोगों ने जैविक उद्यान का निरीक्षण किया।
कार्यक्रम में जैविक सब्जियां उगाओ व फिर खाओ स्वस्थ शरीर पाओ पर जोर दिया गया व बूंद सिंचाई योजना, कम्पोस्ट खाद तैयार करने, गोबर की खाद तैयार करने सहित अनेक योजनाओं की जानकारी दी गई।

जैविक खेती देें बढ़ावा

इस जैविक उद्यान में हर प्रकार सब्जिया सहित अनेक उत्पाद जैविक आधार पर तैयार किए जाते हैं । इस अवसर पर बन्नाराम, बालूराम, कानाराम, गौरीशंकर, सुन्दर सिंह, जगदीश, अनिल कुमार, देवपाल, रामवतार, महिपाल, विकास सहित अनेक ग्रामीणजन मौजूद रहे ।

एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन

जोबनेर। श्री कर्ण नरेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय के प्रसार शिक्षा निदेशालय में शनिवार को पेस्टीसाइड, इनसेक्टीसाइड खाद बीज विक्रेताओं का एक वर्षीय डिप्लोमा इन एग्रीकल्चरल एक्सटेन्शन सर्विसेज फ ॉर इनपुट डीलर्स का एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन हुआ।

किसानों को उचित सलाह दें डीलर्स
मुख्य अतिथि कीट विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. बीएल जाट थे। जाट ने कहा कि डीलर्स की ये जिम्मेदारी है कि वे किसानों को उचित पेस्टीसाइड व इनसेक्टीसाइड उपयोग करने की सलाह दें। उन्होंने कहा कि वर्तमान में पेस्टीसाइड के दुष्प्रभाव देखने को मिल रहे हैं। सहायक निदेशक प्रसार शिक्षा डॉ. राजेन्द्रा राठौड़ ने कहा कि किसान जैविक खेती को अपनाएं। किसानों की आय दुगनी हो इसके प्रयास किए जाए। इस दौरान मोहन वर्मा, संतोष सामोता, दानाराम, मनोज शर्मा, सुल्तान, मनभर मौजूद थे ।

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned