6 महिने से पेयजल संकट से जूझ रहे बाशिन्दें, स्वयं के खर्चे पर मंगवा रहे पेयजल टैंकर


बोरिंग में पाइप डालें तो मिले राहत, बोरिंग के बाहर पड़े हैं खराब पाइप

By: Satya

Updated: 03 Jul 2021, 09:15 PM IST


गुर्जरपुरा पंचायत के लीलो का बास गांव का मामला


शाहपुरा। कोरोना काल में पहले से परेशान लोग अब भीषण गर्मी में पेयजल संकट से और जूझ रहे हैं। लोगों को बूंद बूंछ पानी के लिए भी जतने करने पड़ रहे हैं। विराटनगर व शाहपुरा में कुछ जगह तो लोगों को स्वयं के स्तर पर ही पेयजल व्यवस्था करनी पड़ रही है। विराटनगर ब्लॉक की ग्राम पंचायत गुर्जरपुरा के गांव लीलो का बास में तो पिछले करीब 6 माह से पेयजल संकट गहराया हुआ है, इसके बावजूद प्रशासन की ओर से ध्यान नहीं दिया जा रहा। जिससे ग्रामीण इस संकटकाल में परेशान है। यहां के बाशिन्दों को स्वयं के स्तर पर ही पेयजल टैंकर मंगवाने पड़ रहे हैं। या फिर इधर-उधर से पेयजल व्यवस्था करनी पड़ रही है। जिससे लोगों में रोष व्याप्त है।

यहां के ग्रामीणों ने बताया कि गांव में थ्री फेज बोरिंग लगा हुआ है, लेकिन बोरिंग के पाइप फ्लोराइड होने के कारण खराब होकर क्षतिग्रस्त हो गए। जिनको ग्रामीणों ने अपने स्वयं के खर्चे से बाहर तो निकाल लिया, लेकिन अब न तो पंचायत प्रशासन और न ही जलदाय विभाग नए पाइप उपलब्ध करवा रहा है। जिससे बोरिंग के खराब हुए पाइप बाहर पड़े हुए हैं। गांव में पेयजल के लिए अन्य कोई व्यवस्था नहीं है।

ग्रामीण गुडडू, संतोष आदि नेे बताया की बोरिंग के लिए नए पाइप उपलब्ध करवाने के लिए जलदाय विभाग के अधिकारियों व ग्राम पंचायत प्रशासन को कई बार अवगत करा चुके हैं, लेकिन अभी तक कोई ध्यान नहीं दे रहा है। जिससे ग्रामीणों में प्रशासन के खिलाफ आक्रोश व्याप्त है। ग्रामीणों ने प्रशासन से शीघ्र ही बोरिंग में नए पाइप डालकर चालू करने की मांग की है। ताकि इस भीषण गर्मी में आमजन को राहत मिल सके।

कई माह से सूखी पड़ी पेयजल टंकी
ग्रामीणों ने बताया कि यहां बोरिंग बंद पड़ा होने से पिछले कई माह से पेयजल टंकी सूखी पड़ी हुई है। पहले इसी पेयजल टंकी से पेयजल की आपूर्ति होती थी। अब या तो बाशिन्दों को पेयजल टैंकर मंगवाने पड़ते हैं या फिर आसपास से पेयजल की व्यवस्था करनी पड़ती है। कई बार तो महिलाओं को दूर खेतों से पानी लाना पड़ता है। इस मामले में ग्राम विकास अधिकारी ने शीघ्र ही समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया। इधर, सूरपुरा गांव की बोहरा वाली ढाणी निवासी भगवान सहाय ने बताया कि ढाणी में भी पेयजल संकट गहराया हुआ है।

गांव में व्याप्त पेयजल समस्या का शीघ्र ही समाधान किया जाएगा। ----तोताराम, सरपंच ग्राम पंचायत गुर्जरपुरा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned