सड़क निर्माण कम्पनी की मनमर्जी के खिलाफ व्यापारियों में आक्रोश, स्टेट हाइवे पर किया प्रदर्शन

सड़क निर्माण कम्पनी की मनमर्जी के खिलाफ व्यापारियों में आक्रोश, स्टेट हाइवे पर किया प्रदर्शन

vinod Sharma | Publish: Sep, 04 2018 05:10:01 PM (IST) Ajitgarh, Sikar, Rajasthan, India

अजीतगढ़ से चला टू लेन स्टेट हाइवे का चल रहा निर्माण कार्य, नाले निर्माण के लिए सड़क के किनारे खोदे गए गड्ढे बने परेशानी का सबब

अजीतगढ़(सीकर)। अजीतगढ़ से चला तक निर्माणाधीन टू लेन सड़क निर्माण कार्य मे लेटलतीफी व ठेकेदार की लापरवाही का खामियाजा व्यापारियों व स्थानीय लोगों को भुगतना पड़ रहा है। विगत कई दिनों से ठेकेदार ने अजीतगढ़ शहर के मुख्य आबादी क्षेत्र में स्टेट हाइवे के किनारे नाला निर्माण के लिए गड्ढे खोदकर खुला छोड़ दिया है। जिससे सैकड़ों व्यापारियों का कामकाज प्रभावित हो रहा है। इन गड्ढों में गिर कई राहगीर चोटिल हो रहे है। ठेकेदार की लापरवाही व कछुआ चाल के कार्य पर लोगों ने रोष व्याप्त कर प्रदर्शन किया व ठेकेदार के कर्मचारियों को खरी खोटी सुनाई।

दुकान व घर आने जाने में हो रही परेशानी
ग्रामीण मालीराम नंदूडी, भागीरथ जिंजवाडिया ने बताया अजीतगढ़ के नीमकाथाना सड़क मार्ग पर बसन्त विहार कॉलोनी जाने वाले रास्ते से बस स्टैण्ड तक के सीसी सड़क मार्ग का निर्माण करवाया गया है जिसके दोनों तरफ ठेकेदार नाला निर्माण का कार्य शुरू कर रखा है। लेकिन ठेकेदार के कर्मचारियों ने सड़क की एक साइड में कई दूरी तक गहरे गड्ढे खुदवा रखे है लेकिन अभी तक नाला निर्माण का कार्य शुरू नहीं कर रखा जिस कारण आवागमन तो बाधित हो ही रहा है साथ ही आस—पास के दुकानदार वह घरवालों को भी आने जाने में परेशानी हो रही है

समस्या का नहीं हो रहा समाधान
समस्या समाधान के लिए लोगों ने कई बार ठेकेदार के कर्मचारियों को अवगत करा दिया लेकिन समस्या का कोई समाधान नहीं हो रहा है। सूचना पर नायब तहसीलदार भीमसेन सैनी, थानाधिकारी हिम्मतसिंह, अजीतगढ़ पुलिस चौकी प्रभारी बलवीर सिंह पहुंच कर लोगों को समझाइश की लेकिन लोग नहीं माने। वहीं ठेकेदार के कर्मचारियों को बुलाने वह कार्य शुरू करवाने की मांग की। इसके बाद में मौके पर आए ठेकेदार के कर्मचारियों को जमकर खरी खोटी सुनाई। इसके बाद में ठेकेदार के कर्मचारियों ने 4 दिन में कार्य शुरू करने का आश्वासन देने के बाद लोग शांत हुए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned