scriptThe current of negligence took the life of the child | मकर संक्रांति पर घर में मच गया कोहराम, लापरवाही के करंट ने ले ली बालक की जान | Patrika News

मकर संक्रांति पर घर में मच गया कोहराम, लापरवाही के करंट ने ले ली बालक की जान

- मातम में बदला मकर संक्रांति (Makar Sankranti) का त्योहार
- बहलोड गांव की घटना
- 11केवी का तार टूटा पड़ा था, पतंग लेने गया तो आया चपेट में
- मां ने घर में बनाए थे पकवान, कर रही थी प्रतीक्षा

बस्सी

Updated: January 14, 2022 11:45:42 pm

जयपुर. जिले के रायसर थाना क्षेत्र के बहलोड गांव में विद्युत निगम के जिम्मेदारों की लापरवाही ने शुक्रवार को मकर संक्रांति पर ग्यारह साल के बालक की जान ले ली। बालक खेत से घर लौट रहा था, रास्ते में कटी पतंग को उठाने लगा तो वहां टूटे पड़े 11 हजार केवी लाइन के तार में प्रवाहित हो रहे करंट की चपेट में आ गया। इससे उसकी मौत हो गई। घटना की सूचना के करीब 2 घंटे बाद भी जिम्मेदारों के मौके पर नहीं पहुंचने पर लोगों ने नाराजगी जताई। ग्रामीणों ने बिजली निगम पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए लाइनमैन को सस्पेंड करने व परिजनों को मुआवजा दिलाने की मांग की। सूचना पर पहुंची रायसर थाना पुलिस ने मामले को शांत करवाया।
रायसर. मौके पर उपस्थित ग्रामीण व पुलिस। इनसेट में मृतक बालक अभिषेक।
रायसर. मौके पर उपस्थित ग्रामीण व पुलिस। इनसेट में मृतक बालक अभिषेक।
सरपंच सुदामा राम गुर्जर ने बताया कि रामकरण योगी का 11 वर्षीय पुत्र अभिषेक उर्फ जीतू शुक्रवार को खेत से घर लौट रहा था। बहलोड़ बस स्टैंड के समीप 11 हजार केवी का एक तार टूट कर जमीन पर पड़ा हुआ था। एक पतंग कट कर वहां आकर गिर गई। अभिषेक पतंग को उठाने के लिए उसके पास गया तो करंट की चपेट में आ गया और वह गंभीर रूप से झुलस गया। लोगों ने उसे चंदवाजी स्थित निम्स अस्पताल पहुंचाया, वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घाे षित कर दिया। बच्चे की मौत की खबर सुनकर परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया। डॉक्टरों ने पोस्टमार्टम कर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।
गुस्साए लोगों ने जताया विरोध

घटना के बाद मौके पर लोगों ने लाइनमैन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए बताया कि करीब 2 वर्ष से 11 हजार केवी के तार बस स्टैंड के समीप झूल रहे हैं इसको लेकर लोगों ने कई बार बिजली विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों को अवगत करवा दिया परंतु लापरवाही के चलते इस ओर ध्यान नहीं दिया गया। इन बिजली विभाग के कर्मचारियों की लापरवाही के कारण बच्चे की जान चली गई।
मां कर रही थी इंतजार, बनाया था चूरमा

मकर संक्रांति पर्व (Makar Sankranti Festival) पर मां ने बच्चों के लिए चूरमा दाल बाटी बना रखा था और बेटे के खेत से आने का इंतजार कर रही थी। खेत से घर लौट रहे बच्चे की करंट से मौत होने की खबर सुनकर त्योहार की खुशी मातम में बदल गई।
परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़

अभिषेक तीन भाइयों में सबसे छोटा था और पांचवी कक्षा में अध्ययनरत था। नवंबर 2015 में दीपावली के दिन मृतक के पिता रामकरण की मौत हो गई थी। पिता की मौत के बाद कैलाशी देवी तीनों बच्चों का मेहनत मजदूरी कर पालन पोषण कर रही थी। बड़ा पुत्र रिंकू कक्षा ग्यारहवीं में अध्यनरत है, दूसरे नंबर का महेश कक्षा 6 में अध्यनरत है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालइन 4 तारीखों में जन्मी लड़कियां पति की चमका देती हैं किस्मत, होती है बेहद लकी“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहकम उम्र में ही दौलत शोहरत हासिल कर लेते हैं इन 4 राशियों के लोग, होते हैं मेहनतीइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

UP Assembly Elections 2022 : गृहमंत्री अमित शाह ने दूर की पश्चिम के जाटों की नाराजगी, जाट आरक्षण को लेकर कही ये बातटाटा ग्रुप का हो जाएगा अब एयर इंडिया, कर्मचारियों को क्या होगा फायदा और नुकसान?झारखंड में नक्सलियों ने ब्लास्ट कर उड़ाया रेलवे ट्रैक, राजधानी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों का रूट बदलाBudget 2022: इस साल भी पेश होगा डिजिटल बजट, जानें कैसे होगी छपाईजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रSchool Closed: यूपी में 15 फरवरी तक बंद हुए सभी स्कूल-कॉलेज, Online Classes जारी रहेंगीUP Police Recruitment 2022 : यूपी पुलिस में हाईस्कूल पास युवाओं के लिए निकली बंपर भर्तियां, जानें पूरी डिटेलहिजाब के बिना नहीं रह सकते तो ऑनलाइन कक्षा का विकल्प खुला : भट्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.