Ram Janmabhoomi Pujan : यहां के कुंभकारों के दीप जलेंगे 5 अगस्त को

रामजन्मभूमि मंदिर भूमि पूजन के पूर्व कुंभकारों की निराशा खुशी में बदली, 5 अगस्त को घरों में दीपक जलाने की योजना से मांग बढ़ी

By: Gourishankar Jodha

Published: 02 Aug 2020, 09:09 PM IST

फागी। रामजन्म भूमि मंदिर पूजन के पूर्व यहां के कुंभकारों की निराशा खुशी में बदल गई, क्षेत्र में इन दिनों बड़ी संख्या में कुंभकार (प्रजापत) समाजजन दीपक बनाने में जुटे है। यहां तक की उन्हे दीपावली के समान आर्डर भी मिल रहे हैं। लॉकडाउन की मंदी से जुझ रहे समाजजनों को राहत का एहसास हो रहा है।
इन दिनों उपखण्ड क्षेत्र के गांवों में कुंभकार दीपक बनाने में व्यस्त है। यह तैयारी दीपावली की नहीं हो रही हैं, बल्कि अयोध्या में 5 अगस्त को राम मंदिर से पूर्व शिलान्यास की है। शिलान्यास के दिन देश भर में घी के दीपक जलाने की घोषणा से प्रजापत समाज के लोग मटकियां तथा पौधों के गमले बनाना छोड़कर मिट्टी दीपक तैयार कर रहे है।

मिल रहे दीपक बनाने के आर्डर
लॉकडाउन से आर्थिक मंदी में जुझ रहे इस समाज के लिए लोगों को 5 अगस्त को दीपकों की बिक्री से आर्थिक सहयोग मिलने की उम्मीद है। शिलान्यास समारोह को लेकर चाहे कोई राजनीति हो रही हो, लेकिन इस धंधे से जुड़े लोगों को दीपक बनाने के आर्डर भी मिलना शुरू हो गए है। लॉकडाउन में इन लोगों द्वारा निर्मित किए गए पौधे लगाने के घमलों व मटकियों की बिक्री अपेक्षित नहीं हो सकी थी। जिससे यह लोग आर्थिक संकट झेल रहे थे। 5 अगस्त से पूर्व दीपक बनाने की आर्डर मिलने से कुछ हद तक आर्थिक संकट दूर होगा।

नन्देश्वर व भोमिया जी की मूर्ति लगाई
बिचून झरना ग्राम के भोमियाजी महाराज के स्थान पर मंदिर जीर्णोद्धार के बाद रविवार को नन्देश्वर, शिवलिंग व भोमियाजी महाराज की मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा करवाई गई। मंदिर में हवन पूजा का कार्यक्रम हुआ, जिसमें सात जोडों ने आहुतियां दी तथा वैद्विक मंत्रोच्चार के साथ पं सत्यनारायण शर्मा व मुकेश शर्मा ने मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा करवाई।

PM Narendra Modi
Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned