सरकारी विद्यालयों की प्रतिभाओं ने लहराया परचम


शिक्षकों व ग्रामीणों ने किया सम्मान

By: Satya

Published: 31 Jul 2020, 09:51 PM IST


शाहपुरा ब्लॉक में 6 सरकारी विद्यालयों का 10वीं बोर्ड का 100 फीसदी परिणाम रहा

शाहपुरा। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से जारी किए गए १०वीं बोर्ड के परीक्षा परिणाम में भी सरकारी विद्यालयों की प्रतिभाओं ने परचम लहराया है। हालांकि इस बार कोरोना के चलते लागू लॉक डाउन का असर नजर आया। इसके बावजूद ब्लॉक में सरकारी स्कूलों का 10वीं बोर्ड का परीक्षा परिणाम 77.72 प्रतिशत रहा है। जिसमें ब्लॉक के 6 सरकारी स्कूलों का परीक्षा परिणाम शत प्रतिशत रहा है।

सीबीईओ शाहपुरा गैंदालाल रैगर ने बताया कि शाहपुरा ब्लॉक में १०वीं बोर्ड की परीक्षा में 2029 विद्यार्थी शामिल हुए थे। जिनमें से 1577 पास हुए है। इनमें 579 परीक्षार्थियों ने प्रथम श्रेणी, 758 द्वितीय श्रेणी एवं 240 तृतीय श्रेणी के अंक प्राप्त कर उत्तीण हुए। क्षेत्र के शाहपुरा, देवन, लेटकाबास सहित कई स्कूलों में शिक्षकों व ग्रामीणों ने प्रतिभाओं को सम्मानित किया। इस दौरान शिक्षकों ने टॉपर्स विद्यार्थियों का अभिनंदन कर उनको आगे बढऩे के लिए प्रेरित किया।


देवन, लेटकाबास व अमरसर स्कूल के विद्यार्थी रहे टॉपर
सीबीईओ ने बताया कि ब्लॉक में देवन स्थित राउमावि की छात्रा तरंग लोमोड़ ने 95.50 प्रतिशत अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान पर रही। वहीं, लेटकाबास के राउमावि के छात्र मनीष कुमार हरिजन ने 95.33 लेकर द्वितीय तथा अमरसर के राउमावि के छात्र भरत शर्मा ने 94.67 फीसदी अंक प्राप्त कर सरकारी स्कूलों में तीसरे स्थान पर रहे।

6 विद्यालयों का परिणाम रहा शत प्रतिशत
सीबीईओ शाहपुरा गैंदालाल रैगर ने बताया कि ब्लॉक के 48 राजकीय उच्च माध्यमिक एवं माध्यमिक स्कूलों में से 6 विद्यालयों का परीक्षा परिणाम शम प्रतिशत रहा है। जिनमें राउमावि चिमनपुरा, राउमावि जगतपुरा, राउमावि लोचूकाबास, रामावि जाजैखुर्द, रामावि अमरपुरा एवं राजकीय बालिका माध्यमिक विद्यालय राडावास का परिणाम 100 फीसदी रहा है। सीबीईओ के मुताबिक शिक्षकों और छात्रों की मेहनत से ब्लॉक में सरकारी स्कूलों में 12वीं के बाद 10वीं बोर्ड का भी परीक्षा परिणाम बेहतर रहा है। इससे सरकारी स्कूलों के प्रति अभिभावकों का नजरिया बदला है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned