राजस्थान में 24 मई तक का सख्त लॉक डाउन, बेवजह घर से बाहर नहीं निकलें


सार्वजनिक समारोह, खेलकूद, शादियां, टैंट हाउस, हलवाई, धार्मिक स्थल रहेंगे बंद, सार्वजनिक परिवहन पर भी पाबंदी

-इमरजेंसी सेवाओं को रहेगी छूट

By: Satya

Updated: 09 May 2021, 09:26 PM IST


-बिना अनुमति मुख्यालय छोडऩे वाले कार्मिकों के खिलाफ होगी कार्रवाई

-लॉकडाउन को लेकर एडीएम व एएसपी ने शाहपुरा व विराटनगर ब्लॉक के अधिकारियों की बैठक ली


शाहपुरा। प्रदेश में तेज गति से फैल रहे कोरोना संक्रमण की प्रभारी रोकथाम को लेकर प्रदेश सरकार ने सोमवार सुबह से 15 दिन का सख्त लॉक डाउन घोषित किया है। लॉक डाउन के दौरान धार्मिक, राजनीतिक, सामाजिक समारोह, शादियां सहित सभी तरह के समारोहों पर पूर्णतया पाबंदी रहेगी। धार्मिक स्थल व सार्वजनिक परिवहन भी पूरी तरह से बंद रहेगा। लॉक डाउन सोमवार सुबह से 24 मई तक रहेगा। इधर, लॉकडाउन के दौरान गाइड लाइन की पालना को लेकर रविवार को शाहपुरा के उपखंड कार्यालय में अतिरिक्त जिला कलक्टर जगदीश प्रसाद आर्य ने शाहपुरा व विराटनगर उपखंड के सभी ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

इस दौरान एएसपी कोटपूतली रामकुंवार कस्वा भी मौजूद थे। बैठक में एएसपी आर्य ने कहा कि कोरोना संक्रमण की चेन को तोडऩे के लिए सरकार ने 10 से 24 मई तक सख्त लॉकडाउन लगाया है। उन्होंने सभी अधिकारियों को लॉकडाउन के दौरान राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 की जारी गाइडलाइन की सख्ती से पालना करवाने के निर्देश दिए। साथ ही आमजन से भी गाइड लाइन की पालना करने की अपील की। एडीएम ने कहा कि कोरोना से जुड़े सभी अधिकारी व कर्मचारी मुख्यालय पर पाबंद रहेंगे। यदि प्रशासनिक अधिकारियों के दौरे के दौरान कोई भी कार्मिक मुख्यालय पर नहीं मिला तो उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

लॉकडाउन में इमरजेंसी वाहनों और सेवाओं की दुकानों को छूट दी गई है। जिनके लिए भी समय निर्धारित किया है। इसके अलावा सभी बाजार, दुकानें और अधिकांश कार्यालय बंद रहेंगे। श्रमिकों को भी आवागमन की छूट दी गई है। इसके लिए फैक्ट्री मालिक द्वारा आईडी कार्ड जारी करना आवश्यक होगा। उन्होंने सभी अधिकारियों से भामाशाहों को प्रेरित कर सभी सीएचसी व पीएचसी पर बेड अन्य संसाधन बेहतर बनाने पर जोर दिया।

गांवों में संक्रमण की चेन तोडऩे के लिए सभी का सहयोग जरूरी
एएसपी रामकुवांर कस्वा ने कहा कि संक्रमण की चेन तोडऩे को लेकर मेरा गांव मेरी जिम्मेदारी अभियान चलाया हुआ है। इसके तहत प्रत्येक गांव में जनप्रतिनिधि व गणमान्य लोग मिलकर संक्रमण की रोकथाम में सहयोग करें, जिससे संक्रमण की रोकथाम हो। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर काफी घातक है, इसका असर गांवों में दिख रहा है। इसलिए सभी लोग मिलकर कोरोना को हराएं। अभियान के तहत पुलिस व प्रशासन के सहयोग के लिए सभी गांवों में आमजन को प्रेरित करने के लिए कमेटियां गठित की जा रही है। कमेटी प्रतिदिन की कार्रवाई से अधिकारियों को अवगत कराएगी।

उत्कृष्ट कार्य करने पर बीसीएमएचओ शाहपुरा व टीम की प्रसंशा
बैठक में अधिकारियों ने वैक्सीनेशन में शाहपुरा ब्लॉक का उत्कृष्ट कार्य होने पर बीसीएमओ डॉ विनोद शर्मा व उनकी टीम की प्रशंसा की। कोटपूतली तहसीलदार सूर्यकांत शर्मा ने मेरा गांव मेरी जिम्मेदारी अभियान की कोटपूतली ब्लॉक की आगामी प्लानिंग के बारे में बताया।

बैठक में शाहपुरा एसडीएम मनमोहन मीणा, विराटनगर एसडीएम राजवीर यादव, डीएसपी शाहपुरा सुरेंद्र कृष्णियां, डीएसपी कोटपूतली दिनेश यादव, कोटपूतली तहसीलदार सूर्यकांत शर्मा, शाहपुरा तहसीलदार सुरेश राव, शाहपुरा बीसीएमएचओ डॉ विनोद शर्मा, विराटनगर बीसीएमएचओ डॉ सुनील कुमार मीणा, चिकित्सालय प्रभारी डॉ हरीश मोहन मुदगल, शाहपुरा थाना प्रभारी विजेंद्र सिंह, विराट नगर थाना प्रभारी रामावतार मीणा, मनोहरपुर थाना प्रभारी अशोक कुमार, अमरसर थाना प्रभारी राजेंद्र प्रसाद, नगरपालिका ईओ ऋषिदेव ओला सहित कई अधिकारी व कार्मिक मौजूद थे।

Corona virus

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned