आज ऐसे मनाएंगे क्षमावाणी पर्व

हर दिन हो रहे अनेक धार्मिक आयोजन, गुरुवार को जैन धर्मावलंबियों द्वारा क्षमावाणी पर्व मनाया जाएगा, जिसमें दशलक्षण पर्व के दौरान जाने-अनजाने में हुई गलतियों की एक-दूसरे से क्षमा याचना मांगी जाएगी

By: Gourishankar Jodha

Published: 02 Sep 2020, 11:21 PM IST

करणसर। क्षेत्र के जैन मंदिरों में चल रहे दशलक्षण पर्व के दौरान बुधवार को अनेक धार्मिक आयोजन हुए। गुरुवार को जैन धर्मावलंबियों द्वारा क्षमावाणी पर्व मनाया जाएगा, जिसमें दशलक्षण पर्व के दौरान जाने-अनजाने में हुई गलतियों की एक-दूसरे से क्षमा याचना मांगी जाएगी।
चारणवास जैन मंदिर पुजारी पं. वीरेन्द्र जैन व महेंद्र कुमार पाटनी ने बताया कि कस्बे के आदिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर, छोटा करणसर के पाश्र्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर, चारणवास के पद्मप्रभु जिनालय, सांगा का बास के संभवनाथ मंदिर, डूंगरीकलां के पाश्र्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर व रामजीपुरा कलां के पाश्र्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर के साथ ही भैंसलाना, ***** व लूणवा के जैन मंदिरों में सांस्कृतिक कार्यक्रम, णमोकार मंत्रोच्चारण सहित अनेक धार्मिक आयोजन हुए। महावीर स्वामी की झांकी सजाई गई। इंद्र्र-इंद्राणियों ने पूजा अर्चना कर परिवार व क्षेत्र में सुख समृद्धि की कामना की।

दश लक्षण महापर्व का समापन, क्षमावाणी पर्व आज
उपखण्ड क्षेत्र में सकल दिगम्बर जैन समाज की ओर से दशलक्षण पर्व के अन्र्तगत उत्तम क्षमा, उत्तम माईव, उत्तम आर्जव, उत्तम सोच, उत्तम सत्य, उत्तम तप, उत्तम त्याग, उत्तम आकिंचन्य, उत्तम ब्रह्मचर्य धर्म के पूज के साथ महापर्व का गुरुवार को समापन हुआ। समाज के राजबाबू गोधा ने बताया कि गुरुवार को क्षमावाणी पर्व मनाया जाएगा। जिसमें एक दूसरे से वर्ष भर में की गई गलती की क्षमा याचना करेंगे।

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned