Women farmers-महिलाओं का बताया कैसे वर्षभर सभी तरह की सब्जियां प्राप्त करें

कृषि विज्ञान केन्द्र, टांकरड़ा में पोषण अभियान के अन्तर्गत महिला कृषक प्रशिक्षण दिवस का आयोजन किया, जिसमें 152 कृषक व आंगनबाड़ी महिलाओं ने भाग लिया

By: Gourishankar Jodha

Published: 18 Sep 2020, 10:03 PM IST

कालाडेरा। कृषि विज्ञान केन्द्र, टांकरड़ा की ओर से पोषण अभियान एवं महिला कृषक प्रशिक्षण दिवस का आयोजन किया गया। इसमें लगभग 152 कृषक व आंगनबाड़ी महिलाओं ने भाग लिया। इस प्रशिक्षण में कृषि विज्ञान केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अध्यक्ष डॉ. एस.एस. राठौड़ ने महिलाओं को पोषण वाटिका कैसे स्थापित करें, किस प्रकार वर्षभर सभी तरह की सब्जियों को प्राप्त करें, पोषक थाली, दैनिक आहार में पोषण संबंधित जानकारियां दी। उन्होंने कहा कि उपलब्ध स्थानीय खाद्य पदार्थों को उपयोग में लाते हुए भोजन में मूल्य संवद्र्धनता को बढ़ावा देना चाहिए।
केन्द्र की गृह वैज्ञानिक डॉ. स्मिता भटनागर ने पोषण वाटिका का महत्व, पोषण थाली का महत्व संतुलित आहार से किस प्रकार बीमारियों से मुक्त रह सकते हैं इसकी जानकारी दी। प्रशिक्षण के दौरान इफको के राज्य वितरण प्रबंधक किशन सिंह एवं उपक्षेत्र प्रबंधक, महिला एवं बाल विकास परियोजना प्रभारी श्रीमती मधु दुबे तथा चौमूं क्षेत्र की समस्त महिला बाल विकास प्रभारी उपस्थित रहीं।

बीजों के पैकेट भी बांटे
महिला प्रशिक्षणार्थियों को गाजर, मूली, पालक, धनिया एवं मेथी के बीज के पैकेट के साथ पोषण वाटिका स्थापित करने के लिए सेंजना तथा नींबू के पौधे भी वितरित किए गए।

पोषण वाटिका बनाने पर जोर
विशेषज्ञों ने बताया कि इस बार पोषण माह में पोषक तत्वों से भरपूर सब्जियों व फलों के पौधे लगाने के लिए लगभग 250 से अधिक पोषण वाटिकाएं बनाये जाने पर जोर रहेगा। साथ ही बच्चों को जन्म लेने के शुरुआती दिनों में अच्छे पोषण के तौर पर स्तनपान के महत्व के बारे में जागरुकता और युवा महिलाओं व बच्चों में खून की कमी दूर करने के उपायों पर ध्यान दिया जाएगा।

Show More
Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned