बॉर्डर पर तैनात देश के सैनिकों के लिए राखियां पहुंचाएंगे मुंबई के दो युवा


दोनों युवाओं का राईडर्स ग्रुप के सदस्यों ने किया स्वागत

By: Satya

Published: 27 Jul 2020, 09:04 PM IST


शाहपुरा। जम्मू कश्मीर में तैनात देश के सैनिकों के लिए रक्षा बंधन पर्व पर मुम्बई के दो युवा बहनों की राखी पहुंचाएंगे। मुम्बई से राखियां लेकर स्कूटर से जम्मू कश्मीर के लिए रवाना हुए दोनों युवा रोहित वासुदेव अचरेकर एवं वैभव जगदीश मांगेलाल सोमवार को शाहपुरा पहुंचे। यहां पहुंचने पर राईडर्स ग्रुप शाहपुरा के सदस्यों ने दोनों युवाओं का माल्यार्पण कर स्वागत किया।

सैनिकों के लिए राखियां लेकर जा रहे रोहित वासुदेव अचरेकर ने बताया कि वे 22 जुलाई को राखियां लेकर मुम्बई से रवाना हुए थे। उनका 1 अगस्त को जम्मू में पहुंचने का कार्यक्रम है। उन्होंने बताया कि टू कॉज संस्था की ओर से एक बन्धनमिशन के तहत देशभर से बहनों से राखियां मगंवाई गई है।


कोविड -19 के कारण चारों तरफ बंद की स्थिति होने से इस बार बहुत सी बहनें सरहद पर तैनात अपने भाइयों को राखियां नहीं भेज पा रही। ऐसे में रोटरी क्लब तथा अन्य संस्थाओं ने मिल कर एक बन्धन मिशन के तहत बहनों से राखियां मंगवाकर बॉर्डर पर तैनात सैनिक भाइयों तक राखियां पहुंचाने का कार्य हाथ में लिया है। जिसे ये दो युवा पूरा करने के लिए मुबई से जम्मू तक की लगभग 2500 किलोमीटर की यात्रा करेंगे।

यात्रा के बारे में उन्होंने बताया कि उन्हें रास्ते में बहुत ही अच्छा उत्साहवर्धक सहयोग मिला है। मुम्बई से शाहपुरा के बीच लोगों ने कई जगह उनका स्वागत किया। इस बीच कई जगह बहनें बॉर्डर पर तैनात भाइयों के लिए राखियां भेज रही है।

यहां शाहपुरा पहुंचने पर अखिल भारतीय साहित्य परिषद के अध्यक्ष रामस्वरूप रावतसरे, राईडर्स ग्रुप के अध्यक्ष उमेष जांगिड़, मुकेश कुमार पारीक, सुरेश अटल, केशव जांगिड़, राधेश्याम यादव सहित राइडर्स ग्रुप के कई लोगों ने उनका स्वागत किया। जलपान के बाद दोनों युवा यहां से आगे के लिए रवाना हो गए। युवाओं ने बताया कि 1 अगस्त को उनका जम्मू में पहुंचने का कार्यक्रम है। दोनों युवाओं का जोश देखने लायक था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned