किसानों का अनूठा सत्याग्रह...61वां दिन जमीन समाधि

किसानों का 61वें दिन भी धरना-प्रदर्शन जारी, पूर्व विधायक सैनी पहुंचे और सत्याग्रह को दिया समर्थन

By: Gourishankar Jodha

Published: 08 Mar 2020, 12:26 AM IST

रामपुरा डाबड़ी। किसानों का जमीन समाधि सत्याग्रह को 61 दिन हो चुके हैं, लेकिन अब तक उनकी मांगों को नहीं सुना जा रहा है। इस कारण जयपुर-चौमंू राजमार्ग स्थित नींदड़ गांव की 1350 बीघा भूमि को जयपुर विकास प्राधिकरण द्वारा अधिग्रहण करने के विरोध में चल रहा धरना प्रदर्शन शनिवार को 61वें दिन भी जारी रहा।
जमीन समाधि सत्याग्रह स्थल पर आठवें दिन 61 किसान जमीन समाधि में बैठे और 10 नई समाधि तैयार करने का कार्य किया और रविवार सुबह 10 नए सत्याग्रही जमीन समाधि में बैठेंगे। चौमंू के पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी ने कार्यकर्ताओं के साथ भूमि समाधि सत्याग्रह स्थल पहुंचे और मुख्यमंत्री से बाचीत कर किसानों को मुआवजा दिलवाने का भरोसा दिलाया। पूर्व विधायक सैनी ने किसानों की समस्याएं सुनी।

मुख्यमंत्री के गंभीरता से नहीं लेने के कारण किसानों में आक्रोश
नींदड़ बचाओ संघर्ष समिति संयोजक डॉ. नगेंद्रसिंह शेखावत ने कहा कि सरकार के पास किसानों की समस्या के बारे में कई दिनों से जानकारियां दी जा रही है, लेकिन मुख्यमंत्री इसे गंभीरता से नहीं लेने से किसानों में आक्रोश बना हुआ है। समिति के प्रदेश प्रवक्ता हरिशंकर शर्मा ने कहा कि जब तक किसानों के हक में मुआवजे का फैसला नहीं होगा।

प्रतिदिन 10 किसानों की समाधि खोदी जाएगी
तब तक प्रतिदिन 10 किसानों की समाधि की जगह खोदी जाएगी। समिति अध्यक्ष कैलाश बोहरा ने कहा मुआवजा नहीं मिलने तक अपने फैसले पर अटल रहेंगे और धरना-प्रदर्शन के साथ भूमि समाधि सत्याग्रह भी करते रहेंगे। शनिवार देर शाम तक सरकार की तरफ से किसी भी प्रकार का वार्ता निमंत्रण नहीं मिलने से किसानों में रोष ओर भी फैल गया।

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned