बूढ़ी बहनों की ढाणी में विजिलेंस टीम पर पथराव

डबजली चोरी पकडऩे गई बिजली विभाग की गाड़ी जलाने का प्रयास,  लिसाडिय़ा गांव की घटना, पुलिस ने छुड़वाया

By: Gourishankar Jodha

Updated: 20 Mar 2020, 11:09 PM IST

मूंडरू। कस्बे के गांव लिसाडिय़ा की बूढ़ी बहनों की ढाणी में शुक्रवार को विद्युत चोरी पकडऩे व रिकवरी करने गए विद्युत विभाग के दस्ते के साथ हाथापाई व विभाग की गाड़ी जलाने का प्रयास किया गया। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने विभाग की टीम को छुड़वाया। विभाग के जेईएन विकास जांगिड़ ने बताया कि शुक्रवार दोपहर में विभाग की विजिलेंस की टीम आठ-दस कर्मचारियों के साथ आसपास की ढाणियों में रिकवरी कर रही थी। साथ ही विद्युत छीजत को रोकने के लिए आसपास की ढाणियों में विद्युत फीडर चेक किए जा रहे थे।

300 मीटर लंबी केबल बिछाकर बिजली चोरी
इस दौरान टीम बूढ़ी बहनों की ढाणी में पहुंची। वहां उपभोक्ता मक्खनलाल सैनी अपने घर के पास करीब 300 मीटर लंबी केबल बिछाकर बिजली चोरी करते पाया गया। विभाग की टीम ने केबल समेटने की कार्रवाई शुरू की, इतने में मक्खन सैनी व उसके परिवार की महिलाओं ने हमला कर दिया। केम्पर गाड़ी के आगे मोटरसाइकिल लगाकर केम्पर रास्ता रोक, जलाने का प्रयासकर पथराव किया। टीम ने घटना की सूचना श्रीमाधोपुर पुलिस थाने में दी। मौके पर पहुंचे श्रीमाधोपुर पुलिस के एसआई अमीचंद व पुलिस ने मोटरसाइकिल व टीम का विरोध कर रहे लोगों को मौके से हटवाकर टीम की केम्पर को निकलवाया।

बिजली चोरी करने व कार्रवाई में बाधा पहुंचाने की रिपोर्ट

जेईएन जांगिड़ का कहना है कि उपभोक्ता बिजली चोरी का आदतन अपराधी है। विभाग पहले भी उपभोक्ता के घर दो बार चोरी पकड़ चुका है। चोरी की वीसीआर जमा नहीं कराने पर बिजली कनेक्शन भी काटा जा चुका है। इसके उपरांत भी बिजली चोरी करता पाया गया है। विभाग ने उपभोक्ता के खिलाफ चोरी करने व कार्रवाई में बाधा पहुंचाने की पुलिस को रिपोर्ट दी है। उपभोक्ता मक्खनलाल सैनी का कहना है विभाग के कर्मचारी मनमर्जी से जब चाहे वीसीआर भर देते हंै। खेत में केबल बिछी ही थी, किसी प्रकार की चोरी नहीं की जा रही रही। विभाग कर्मचारियों ने तानाशाही करते हुए खेत में बिछी केबल को समेट लिया, जिसका विरोध किया था। कर्मचारियों के साथ कोई अभद्र व्यवहार नहीं किया।

Show More
Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned