मौसम की मार, किसान बेहाल

रात व दोपहर में तेज हवा के साथ बारिश खेतों में पसरी फसल, किसान परेशान कर रहे मुआवजे की मांग

By: Gourishankar Jodha

Updated: 07 Mar 2020, 12:04 AM IST

चीथवाड़ी। रबी की फसल पककर कटाई शुरू होने को है, मौसम के बदलते मिजाज व तेज हवा बारिश ने किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें ला दी है। चीथवाड़ी सहित आसपास के क्षेत्र में तेज हवा के साथ हुई बारिश से खेतों में लहलहाती गेहूं व जौ की फसल पसर गई। क्षेत्र में दो दिन से हो रही बारिश के चलते तापमान में गिरावट आई और सर्दी का भी एहसास हुआ। किसान साधुराम मुवाल आदि ने बताया कि बेमौसम बारिश व हवा के चलने से पकने को तैयार खड़ी फसलों में नुकसान हुआ है। फसल पसर जाने से दाना ठीक से नहीं पक पाएगा और आकर में भी छोटा रह जाएगा। इससे किसानों की छह माह की मेहनत पर पानी फिर गया। किसान खेतों में खड़ी फसल को पसरी हुई देख मायूस हो गए। क्षेत्र में बारिश के बाद किसान ओलावृष्टि की आशंका को लेकर चिंतित हैं।

किसानों के चेहरे पर चिंता की लकीरें
जालसू. जालसू सहित आसपास के ग्रामीण अंचल में शुक्रवार को दिनभर रुक-रुक कर बारिश होती रही तो चने के आकार के ओले भी गिरे। बारिश से किसानों के चेहरे पर चिंता की लकीरें दिखाई देने लगी है। ओलावृष्टि-बारिश ने लोगों को कंपकंपाते हुए गर्म वस्त्र पहनने को मजबूर कर दिया। किसान गजानंद ने बताया कि खेतों में जौ व सरसों की फसल पक कर तैयार है। कई जगह तो कटाई भी शुरू हो गई है। बारिश होने से फसल खराब हो रही है। ग्रामीण पवनकुमार ने बताया कि अचानक मौसम पलटने व बारिश होने से सर्दी बड़ गई। आम रास्तों में पानी भरने से वाहन राहगिर वाहन चालकों को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ा।

तेज हवा, बरसात से फसलों में नुकसान
मानपुरा माचैडी. कस्बे सहित क्षेत्र के ग्राम रूंडल, पूठकाबास, घठवाड़ा, जाटावाली, बिलौची, कानपुरा में शुक्रवार को दोपहर बाद तेज हवा के साथ आई बरसात ने गेहूं, जौ की पकी फसल पसर गई। इस कारण किसानों को फसल खराब होने का डर सता रहा है। सरसों व तारामीरा की फसल कटाई चल रही है। दोपहर से देर शाम तक रुक-रुककर बारिश होती रही।

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned