युवाओं ने बदली सरकारी स्कूल की तस्वीर

युवाओं ने समिति बनाकर की राशि एकत्र और बनाया समूह, विद्यालय प्रशासन एवं समाजसेवी लोग भी इस मिशन में जुड़कर विद्यालय की तस्वीर ही बदल दी

By: Gourishankar Jodha

Updated: 29 Nov 2020, 12:16 AM IST

मोजमाबाद। मोजमाबाद तहसील क्षेत्र की ग्राम पंचायत धमाणा स्थित राजकीय माध्यमिक विद्यालय लोरडी की युवाओं ने निजी विद्यालय की तर्ज पर तस्वीर ही बदल दी। जहां एक ओर सरकारी विद्यालय विकास को तरस रहा है। वही लोरडी गांव के युवाओं ने सरकारी विद्यालय को निजी विद्यालयों की तर्ज पर विकसीत करने की ठाणी, इसमें विद्यालय प्रशासन एवं समाजसेवी लोग भी इस मिशन में जुड़कर विद्यालय की तस्वीर ही बदल दी।
युवाओं ने विद्यालय विकास समिति लोरडी के नाम से सोशल मीडिया पर सत्र 2018-19 में समूह बनाकर स्वयं सभी समूह के सदस्यों ने राशि एकत्रित की तथा सत्र 2018-19 में दो अतिरिक्त अध्यापक लगाकर शिक्षा के स्तर में सुधार की शुरुआत की। प्रति माह प्रत्येक समूह सदस्य से राशि एकत्रित की गई। जिसके फलस्वरूप इस सत्र में विद्यालय विकास के लिए समिति ने विद्यालय के सभी विद्यार्थियों को नि:शुल्क आई कार्ड, टाई एवं बेल्ट उपलब्ध कराए गए। विद्यार्थियों के स्तर अनुसार वर्कबुक का प्रयोग शुरू किया गया। अतिरिक्त अध्यापक लगाकर शिक्षण कार्य करवाया गया। हस्तलेख सुधार के लिए निजी पुस्तकों का सहयोग लिया जा रहा है। विद्यालय परिसर को अनुकूल बनाने के लिए विद्यालय सौन्दर्यता के लिए विद्यालय भवन का रंग रोगन करवाया गया। प्रार्थना स्थल पर कातला खरजा का कार्य करवाया गया।

विद्यालय बनाया सुंदर
विद्यालय की सैन्दर्यता के लिए ग्रीन हेज लगवाई गई। पेड़-पौधे लगवाने के लिए अच्छी मिट्टी डलवाकर विद्यालय सुरक्षा के चलते बची हुई चार दिवारी पर तार बंदी का कार्य प्रगति पर है। समिति में 3० युवाओं के साथ 20 से अधिक सरकारी कर्मचारी मौजूद है। सरकारी विद्यालयों के प्रति बच्चों के लगाव के लिए समिति हर संभव प्रयास कर रही है। विद्यालय परिसर में युवाओं ने किया पौधरोपण तथा सभी युवाओं ने इनकी देखभाल एवं सुरक्षा की जिम्मेदारी का संकल्प लिया। समिति सदस्यों ने बताया की सभी सदस्य निजी स्तर पर विद्यालय विकास के लिए 2 लाख की राशि खर्च कर चुके है।

गांव के जागरूक युवाओं का कमाल
गौरतलब है की की पिछले कुछ वर्षो से सरकार की ओर से फ ण्ड नहीं आने के चलते विद्यालय के रंग रोगन का काम नहीं होने से जर्जर दिखने लगा था तथा पर्याप्त शिक्षक नहीं होने से शिक्षा स्तर में गिरावट को देखते हुए गांव के जागरूक युवाओं ने विद्यालय एवं क्षेत्र के बच्चो के लिए कुछ करने की ठाणी। इसके चलते युवाओ ने समुह का गठन कर विद्यालय विकास में जुट गए। और आज विद्यालय की तस्वीर बदल कर रख दी। साथ ही सरकारी सहायता के लिए स्थानिय विधायक बाबूलाल नागर से भी गुहार की जहां पर विद्यालय विकास के लिए पूर्ण आश्वस्त किया गया।

महिला सरपंच एवं समाजसेवी भी कर रहे योगदान
विद्यालय को निजी विद्यालय की तर्ज के लिए नवनिर्वाचित महिला सरपंच सुमन राजावत एवं समाजसेवी गजराजसिंह भी योगदान कर रहे है। सरपंच ने विद्यालय का निरीक्षण कर जब कक्षा 1-5 तक के बच्चों को जमीन पर बैठा देखा तो उन्होंने टेबल स्टूल की व्यवस्था करवाने, विद्यालय में इलेक्ट्रानिक बैल लगाने के साथ परिसर में 101 छायादार पौधे सौंपकर पौधरोपण कराया। बच्चों को पेयजल के लिए वाटर कुलर विद्यालय की प्रधानाध्यापक प्रज्ञा लक्ष्मी को प्रदान किया, ताकि बच्चों को ठण्डा पानी मिल सके।

Show More
Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned