जब डीएम माला श्रीवास्तव बनीं शिक्षक और बच्चों से पूछा सवाल, स्कूल में था ऐसा माहौल, VIDEO

जब डीएम माला श्रीवास्तव बनीं शिक्षक और बच्चों से पूछा सवाल, स्कूल में था ऐसा माहौल, VIDEO
शिक्षक की भूमिका में बस्ती डीएम

Akhilesh Kumar Tripathi | Updated: 26 Jul 2019, 05:01:53 PM (IST) Basti, Basti, Uttar Pradesh, India

निरीक्षण के दौरान उन्होंने स्कूल में शिक्षकों के साथ ही छात्रों की उपस्थिति और नामांकन की स्थिति देखी, साथ ही साथ वह बच्चों के शैक्षणिक ज्ञान का स्तर भी परखा।

बस्ती. बस्ती की जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव शुक्रवार को एक अलग ही भूमिका में नजर आई। जब वह परिषदीय स्कूलों का निरीक्षण करने निकली तो बच्चोें के लिये शिक्षक बन गई और ब्लैकबोर्ड पर समझाने लगीं। निरीक्षण के दौरान उन्होंने स्कूल में शिक्षकों के साथ ही छात्रों की उपस्थिति और नामांकन की स्थिति देखी, साथ ही साथ वह बच्चों के शैक्षणिक ज्ञान का स्तर भी परखा।

डीएम ने बच्चों को करीब आधे घंटे तक शिक्षक की तरफ ब्लैक बोर्ड पर चॉक से लिखना पढ़ना सिखाया। इस दौरान शिक्षा विभाग के अफसरों के अलावा शिक्षकों की भी सांसें अंटकीं रहीं। डीएम सबसे पहले वह बैरिहवां प्राथमिक विद्यालय पर पहुंची, यहां प्रधानाध्यापक नीता सिंह मौजूद थीं। स्कूल में 66 बच्चों का नामांकन बताया गया जबकि उपस्थिति 34 की रही। कक्षा एक और दो के बच्चे एक कमरे में जबकि 3 और 4 के बच्चे एक कमरे में बैठते हैं। डीएम ने बच्चों की शत प्रतिशत उपस्थिति और विद्यालय में जलजमाव की समस्या दूर करने का निर्देश दिया। मध्याह्न भोजन मीनू के अनुसार ही बच्चों को देने को कहा।

 

 

बैरिहवा स्कूल परिसर में ही आंगनबाड़ी केंद्र निरीक्षण के समय बंद मिला। डीएम ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को कार्यकर्ता और सहायिका को निलंबित करने का निर्देश दिया। अभिहित अधिकारी खाद्य एवं औषधि प्रशासन को टीम भेजकर स्कूलों में दिए जाने वाले भोजन एवं खाद्य पदार्थों की जांच करने का निर्देश दिया।

फिर जिलाधिकारी कटरा प्राथमिक विद्यालय पर पहुंचीं, विद्यालय में जलजमाव मिलने पर नाराजगी जताई। यहां कुल 69 बच्चे पंजीकृत बताए गए। हालांकि स्कूल में 34 बच्चे ही उपस्थित मिले। शिक्षा की गुणवत्ता परखने को बच्चों से कक्षा में सवाल पूछे गये, सिर्फ दो बच्चे ही जवाब दे पाए। डीएम ने क्लास में बच्चों को शिक्षक की तरह पढ़ाया। यहां शैक्षणिक गुणवत्ता में सुधार लाने पर जोर दिया। नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी को स्कूल के जर्जर इंटरलाकिग मार्ग को ठीक कराने और जल निकासी की समस्या का समुचित समाधान करने का निर्देश दिया।

 

BY- SATISH SRIVASTAVA

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned