बीजेपी और बसपा के हिस्ट्रीशीटर के बीच सपा ने इस दिग्गज प्रत्याशी को बनाया प्रत्याशी

बीजेपी और बसपा के हिस्ट्रीशीटर के बीच सपा ने इस दिग्गज प्रत्याशी को बनाया प्रत्याशी

Akhilesh Tripathi | Publish: Nov, 15 2017 10:31:00 AM (IST) Basti, Uttar Pradesh, India

अपराधियों को टिकट देने के मामले में लगभग राजनीतिक दलों में मानो आपसी प्रतिस्पर्धा चल रही है।

 

बस्ती. यूपी में हो रहा निकाय चुनाव अपराधियों की शरणस्थली बन चुकी है। चुनाव मैदान में कई ऐसे प्रत्याशी हैं, जिनका लंबा चौड़ा आपराधिक रिकॉर्ड रहा है। कई ऐसे प्रत्याशी चुनाव मैदान मे है जो हिस्ट्रीशीटर की लिस्ट में भी शामिल हैं। अपराधियों को टिकट देने के मामले में लगभग राजनीतिक दलों में मानो आपसी प्रतिस्पर्धा चल रही है।

 

बस्ती के नगर पंचायत की सीट सबसे हॉट सीट मानी जाती है, मगर दुर्भाग्य की बात यह है कि यहां से अधिकतर ऐसे प्रत्याशी चुनाव मैदान मे है जो थाने के हिस्ट्रीशीटर भी हैं। यहां से बसपा ने मुंबई के सुपारी किलर विजय सिंह कोहले को टिकट दिया है, जो काफी सालों से जेल में बंद था और हाल ही मे वह जेल से छूटकर बाहर आया है। बसपा उम्मीदवार विजय सिंह का कहना है कि उन पर जो दाग लगे थे वे शासन प्रशासन ने जानबूझ कर प्रताड़ित करने के लिये लगवाया था, मगर अब वे इन सबसे दूर हैं और हरैया की जनता की सुरक्षा के लिये लड़ने आये हैं। विजय सिंह का नाम हरैया थाने मे लगे हिस्ट्रीशीटरों की लिस्ट में हैं।

 

वहीं बीजेपी ने हरैया थाने के ही एक और हिस्ट्रीशीटर ध्रुवनारायण सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया है। ध्रुवनारायण सिंह पर आरोप है कि वे जनता के लिये खतरा थे इस वजह से उन्हे पुलिस ने अपनी हिटलिस्ट में डाल दिया। ध्रुवनारायण सिंह हर्रैया नगर पंचायत से दस साल चेयरमैन भी रह चुके हैं। बीजेपी प्रत्याशी हरैया ईलाके मे अब वोट मांगते फिर रहे हैं, जो अब खुद को पाक साफ बताते हुये दावा करते है कि उन पर लगे आरोप अब मिट चुके हैं।

 

सपा ने तीसरी बार तत्कालीन चेयरमैन राजेन्द्र गुप्ता पर भरोसा जताते हुये उन्हे टिकट दिया है, नगर पंचायत कस्बे की सूरत बदलने मे राजेन्द्र काफी हद तक सफल भी हुये मगर वे भी वहीं काम करने मे ज्यादा रुचि लेते हुये नजर आये। व्यापारियों के नेता होने की वजह से सपा प्रत्याशी राजेन्द्र ने टाउन और गलियों में सड़के पक्की कराई, मगर सड़क और पेयजल की समस्या को लेकर इनका काम निराशाजनक रहा। एक बार फिर राजेन्द्र गुप्ता उर्फ रज्जु दो हिस्ट्रीशीटरों के बीच मैदान में हैं।

 

BY- SATISH SRIVASTAVA

 

Ad Block is Banned