12 बार चुनाव हारने के बाद भी जीत के लिए डटा यह उम्मीदवार, कहा- जनता पर भरोसा

Ashish Shukla

Publish: Nov, 14 2017 10:22:53 (IST)

Basti, Uttar Pradesh, India

बस्ती. यूपी मे निकाय चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है। इस चुनाव मे तरह तरह के प्रत्याशियो के रंग देखने को मिल रहा है। वैसे तो हर सीट पर जो प्रत्याशी बेहतर लड़ाई में होता है उसका नाम लिया जाता है। पर जिले में एक ऐसे उम्मीदवार का नाम चर्चा में है। जो अब तक 12 बार चुनाव हार चुके हैं। इस बार 13 वीं बार चुनान मैदान में जीत की उम्मीद के साथ लोगों से वोट मांग रहे हैं।

जी हां निर्दल उम्मीदवार के रूप में गोवर्धन सोनकर एक ऐसे प्रत्याशी है जो अब तक 12 बार चुनाव लड चुके हैं, जनता के बीच वे एक दर्जन बार वोट मांगने के लिये गये लेकिन उन्हे सफलता नही मिली, और बार गोवर्धन सोनकर सभी चुनाव मे अपना भाग्य आजमाते है मगर जनता उन्हे सिर आंखों पर नही बिठाती, जनता के लिये ये जनाब भले ही बेचारा प्रत्याशी हो लेकिन जनता का मूड गोवर्धन सोनकर बदल पाने मे हर बार नाकामयाब रहते हैं, कहते है जनता जनार्दन होती है और पिछले कई साल इस नेता के लिये जनता ही अभिशाप बन गई है।

 

बार -बार हारने का वजह से गोवर्धन सोनकर ने अभी हार नही मानी है, वे लगातार लोकसभा, विधानसभा, नगर पालिका, जिला पंचायत, ग्राम प्रधान और सभासद जैसे तमाम चुनाव मे हाथ आजमाया है, पिछली बार गोवर्धन जब बीजेपी मे शामिल होने को बाद टिकट नही पाये तो उन्होने बगावत कर निर्दलीय विधानसभा का चुनाव लड़ा।
जिसमें उन्हे करारी हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले भी

 

उन्हे जीतते जीतते हार मिली थी, इसी तरह से वे इस बार फिर से किसी दल से टिकट नही मिलने पर निर्दलीय नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष पद के लिये अपनी पत्नी को मैदान मे खडा किया है, अब देखना यह है कि इस बार जनता इस हारने का रिकार्ड बनाने वाले प्रत्याशी को जीताती है या फिर उनके रिकार्ड मे एक बार और ईजाफा हो जाता है

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned