भतीजों ने एक साल बाद चाचा से लिया बदला, बेरहमी से कर दिया कत्ल, ये था मामला

29 अक्टूकर को हुई थी चाचा की हत्या।

बस्ती. चाचा द्वारा पिता की पिटायी का बदला भतीजों ने एक साल बाद लिया और अपने चाचा को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया। बीते 29 अक्टूबर को चाचा की हत्या हुई थी। पुलिस ने अब इस हत्याकांड की गुत्थी को सुलझाते हुए इसका खुलासा कर दिया है।

पुलिस अधीक्षक बस्ती हेमराज मीणा ने बताया कि दुबौलिया के आराजीडूही धरमूपुर मुस्तहकम गांव निवासी मृतक बबुन्ने सिंह की हत्या उसके भाई हरिराम सिंह और भतीजे अजय सिंह व पंकज सिंह ने की। तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उनके कब्जे से गला रेतने और हत्या में प्रयुक्त चाकू भी बरामद हुआ है।

पुलिस की बातए मुताबिक आरोपित अजय ने बताया है कि एक साल पहले मृतक बबुन्ने सिंह व उनके लड़कों ने उसके पिता हरिराम कीपिटायी कर दी थी, जिसमें हरिराम की पैर की हड्डी टूट गयी थी। इसका ऑपरेशन कराने में परिवार को काफी परेशानी उठानी पड़ी। आपरेशन में पांच लाख रुपये से ज्यादा खर्च हो गए।

पिता की पिटायी का बदला लेने के लिये दोनों बेटों ने प्लान बनाया। 29 अक्टूबर को चाचा बबुन्ने सिंह किसी काम से दुबौलिया कस्बा गए थे। इसकी जानकारी हुई तो दोनों भतीजे घर में रखा रामपुरी चाकू लेकर रास्ते में उनके आने का इंतजार करने लगे। रस्ते में बबुन्ने को रोककर उनके सीने में चाकू घोंप दिया और चेहरे पर भी कई वार किये। घटनास्थल पर ही बबुन्ने की मौत हो गयी। आरोपी भतीजे चाकू धान के खेत में फेंककर भाग निकले। पुलिस के मुताबिक हरिराम को जब इस घटना की जानकारी हुई तो उसने दोनों बेटों की छिपने में मदद की। एसपी ने बताया कि पुलिस ने पूरी घटना का पता लगाने के बाद तीनों को धरमूपुर से गिरफ्तार किया।

By Satish Srivastava

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned