नसीब से मिलता है संतों का सानिध्य, प्रेम प्रकाश आश्रम का वार्षिक उत्सव

नसीब से मिलता है संतों का सानिध्य, प्रेम प्रकाश आश्रम का वार्षिक उत्सव
नसीब से मिलता है संतों का सानिध्य, प्रेम प्रकाश आश्रम का वार्षिक उत्सव

Sunil Kumar Jain | Updated: 23 Sep 2019, 07:31:55 PM (IST) Beawar, Beawar, Rajasthan, India

नसीब से मिलता है संतों का सानिध्य, प्रेम प्रकाश आश्रम का वार्षिक उत्सव


ब्यावर. प्रेम प्रकाश आश्रम का वार्षिक उत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। सोमवार को वार्षिक उत्सव के दूसरे दिन प्रेम प्रकाश आश्रम में विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। सुबह श्रद्धालुओं ने श्रीमद् भागवत गीता और श्री प्रेम प्रकाश ग्रंथ के पाठो का पठन किया। संत शंभूलाल साई ने सत्संग में कहा कि नसीब वालो को ही संतो का सानिध्य और आशीष तथा संतो की सेवा करने का सौभाग्य मिलता है। जो मनुष्य अपने जीवन मे निस्वार्थ भाव से संतो की सेवा और सुमिरन करता है उसको संतो का स्नेह और आशीष प्राप्त होता है। जिससे उसका जीवन खुशहाल हो जाता है। सभी आनंद की प्राप्ती होती है। संत शम्भूलाल साई ने अमरापुर से आया मेरा साई ,साई को प्रणाम करो... भजन की प्रस्तुति दी। शाम को सेन्दड़ा रोड अशोका पैलेस गार्डन में गुरुदेव के नाम सांस्कृतिक भजन संध्या आयोजित की गई, जिसमें भगवान डेटानी, नरेश मघनानी तथा कमलेश वरलानी ने भजनो की प्रस्तुति दी। शाम को आरती के बाद प्रसाद वितरित कर कार्यक्रम का समापन किया गया। प्रेम प्रकाश आश्रम के प्रचार प्रमुख नरेंद्र जेसवानी ने बताया कि मंगलवार को सुबह ९.३० बजे जयपुर अमरापुर दरबार से महामंडलेश्वर सदगुरु भगत प्रकाश महाराज का नगर आगमन होगा। नंदनगर झुलेलाल मंदिर पर महामंडलेश्वर भगत प्रकाश महाराज अपनी संत मंडली के साथ आएंगे। जहां प्रेम प्रकाश आश्रम के संत शम्भुलाल साई के सानिध्य में प्रेम प्रकाश नवयुवक मंडल, सिंधी सेंट्रल समाज की ओर से स्वागत महामंडलेश्वर और संत मंडली को शोभायात्रा के रूप में प्रेम प्रकाश आश्रम में लाया जाएगा। आश्रम के हवन में महामंडलेश्वर सद्गुरु भगत प्रकाश महाराज और संत मंडली द्वारा हवन आहुति दी जाएगी। जिसके बाद प्रेम प्रकाश ध्वज वंदन कर प्रेम प्रकाश आश्रम में झंडारोहण कर विधिवत वार्षिक उत्सव का शुभारंभ महामंडलेश्वर भगत प्रकाश महाराज की ओर से किया जाएगा। शाम 5 बजे से महामंडलेश्वर भगत प्रकाश महाराज और संत मंडली के सत्संग होगा। संत शम्भू लाल साई ने बताया कि पहली बार ब्यवार में सत्संग पण्डाल को जयपुर अमरापुर दरबार जैसा रूप देकर सुसज्जित किया गया है। कार्यक्रम में उद्धव दास गुरनानी, नानक राम पारवानी, रामचंद भोजवानी, सुंदर दास वासवानी, केशव कांजानि, भगवान दरयानी, भगवान सेवाणी, हरगुन लालवाणी, हरीश लालवाणी,हशमत राय, गोपाल नाथानी, कमल चंचलानी, वासु लालवाणी सहित प्रेम प्रकाश नवयुवक मंडल के सदस्यों ने अपनी सेवाएं दी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned