ऑक्सीजन सक्सन प्लांट का पैनल लीक, स्टोर में माप का मीटर तक नहीं

ऑक्सीजन सक्सन प्लांट का पैनल लीक, स्टोर में माप का मीटर तक नहीं
ऑक्सीजन सक्सन प्लांट का पैनल लीक, स्टोर में माप का मीटर तक नहीं

Bhagwat Dayal Singh | Updated: 06 Oct 2019, 10:15:19 PM (IST) Beawar, Beawar, Rajasthan, India

ऑक्सीजन सक्सन प्लांट का पैनल लीक, स्टोर में माप का मीटर तक नहीं

अमृतकौर चिकित्सालय -सक्सन प्लांट का पैनल लीकेज, प्रेशर को लेकर बनी रहती है असमंझस की स्थिति

ब्यावर. अमृतकौर चिकित्सालय के ट्रोमा वार्ड व सीसीयू वार्ड के लिए लगे सक्सन प्लांट का पैनल लीकेज हो गया है। पैनल लीकेज होने के कारण पोइंट तक पहुंचने वाले प्रेशर को लेकर असमंझस की स्थिति बनी रहती है। चिकित्सालय के स्टोर में सिलेंडर में भरी ऑक्सीजन का मात्रा जानने के लिए मीटर तक की व्यवस्था नहीं है। विश्वास में ही सिलेंडर का उपयोग किया जा रहा है। ऐसे में कितनी ऑक्सीन सक्सन प्लांट तक पहुंची, कितनी ऑक्सीजन का उपयोग हुआ एवं पैनल लीकेज होने से कितनी उड गई। इसका कोई लेखा-जोखा नहीं है। अमृतकौर चिकित्सालय में ट्रोमा वार्ड व मदर चाइल्ड विग में ऑक्सीजन सक्सन प्लांट लगे हुए है। ट्रोमा वार्ड में लगे सक्सन प्लांट का पैनल लीकेज हो गया है। इससे ऑक्सीजन निकलती रहती है। ऐसे में पोइंट तक ऑक्सीजन को प्रेशर कम मिलने की आशंका बनी रहती है। इसके अलावा सिलेंडर में कितनी मात्रा में ऑक्सीजन पहुंची। इसकी मात्रा की जानकारी करने के लिए मीटर तक की व्यवस्था नहीं है। स्टोर से सक्सन प्लांट या वार्ड तक पहुंचने वाला सिलेंडर पूरा भरा हुआ। यह मात्र आपसी विश्वास पर ही चल रहा है। पैनल दुरुस्त करवाने लिखा पत्रट्रोमा वार्ड व सीसीयू वार्ड में लगे सक्सन प्लांट का पैनल को दुरुस्त करवाने के लिए प्लांट प्रभारी ने संबंधित को पत्र लिखा है। इस पैनल को दुरुस्त करवाने सहित अन्य खामियों को दुरुस्त करवाने के लिए लिखा गया है। गौरतलब हैकि पूर्व में पोइंट से लीकेज होने लगा था। पोइंट दुरुस्त किया गया था।

यह हो रहा है नुकसान

स्टोर से आने वाले सिलेंडर में ऑक्सीजन की कितनी मात्रा है। इसको लेकर कोई आंकलन नहीं रहता है। सिलेंडर की नॉब को देखकर यह मान लिया जाता है कि वों भरा हुआ है। सिलेंडर में क्षमता से अधिक ऑक्सीजन भी परेशानीदायक हो सकती है।

इनका कहना है...

हर माह करीब बीस दस से बीस सिलेंडर की खपत होती है। सप्लाई करने वाली कपनी का प्रतिनिधि ही मीटर से ऑक्सीजन का माप कर दिखा देता है। स्टोर में माप करने के लिए मीटर की व्यवस्था नहीं है। सक्सन प्लांट का जो पैनल लीकेज है। उसका उपयोग नहीं लिया जा रहा है।

-पुखराज झाला, अमृतकौर चिकित्सालय, स्टोर प्राारी

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned