उसे देखा तो रुक गए कदम, थम गई सांस...

पहाड़ी क्षेत्र में माता मंदिर के पास मिला पैंथर शावक का शव,अज्ञात कारणों से हुई मौतवन अधिकारियों ने पोस्टमार्टम के बाद रेंज परिसर में किया अंतिम संस्कार

By: Bhagwat

Published: 29 Jun 2020, 09:49 PM IST

ब्यावर. सेंदड़ा वन क्षेत्र के कानूजा से सटे माता मंदिर के पास रविवार को सुबह पैंथर शावक का शव मिला। वन अधिकारियों ने मौके पर पहुंच पड़ताल की। शव को सेंदड़ा रेंज कार्यालय में लाया गया। यहां पोस्टमार्टम के बाद शव का रेंज परिसर में अंतिम संस्कार किया गया। फिलहाल मौत के कारणो का पता नहीं चल पाया है। कानूजा से कुछ ही दूरी पर पहाड़ी स्थित मंझेवला माता का मंदिर है। सवेरे मंदिर पर कुछ लोग दर्शन करने गए। जहां झाडिय़ो में पैंथर शावक का शव पड़ा होने की सूचना वन अधिकारियों को सूचना मिली। सेंदड़ा क्षेत्रीय वन अधिकारी राजेन्द्रसिंह टीम के साथ मौके पर पहुंचे। करीब एक साल के उम्र के इस नर पैंथर शावक के शरीर पर कोई गंभीर चोट के निशान तो नहीं मिले। ऐसे मेंं वन विभाग की टीम ने इसे सामान्य मौत माना है। हालांकि टीम इस बारे में तह तक जाने का प्रयास जरूर कर रही है। पिछले कुछ माह से पैंथर का जोड़ा दो शावको के साथ सेंदड़ा वन क्षेत्र में विचरण करता देखा गया है। ये जोड़ा शावको के साथ चांग सहित आस पास के उन गांवो में भी पहुंचा था। जो वन क्षेत्र से सटे हुए है। ऐसे में आंशका यह भी जताई जा रही है कि ये शावक कही जोड़े से बिछड़ कर कानूजा मंदिर के पास पहुंच गया। हालांकि वन अधिकारी इस बात की पुष्टि नहीं कर पा रहे है कि ये शावक उसी जोड़े का है। पोस्टमार्टम के बाद दफना दियासेंदडा वन क्षेत्र के क्षेत्रीय वन अधिकारी राजेन्द्रसिंह ने बताया कि कानूजा से कुछ ही दूरी पर माता मंदिर के पास पैंथर शावक का शव मिला। हमने पड़ताल करने के बाद शव को रेंज परिसर लाकर पोस्टमार्टम के बाद दफना दिया। पैंथर जोड़े के साथ दो शावको विचरण करते है। अब ये शावक उसी जोड़े से बिछड़ा है। इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। फिलहाल मौत सामान्य ही लग रही है फिर भी पड़ताल जारी है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned