बढ़ा मौत का आंकड़ा, इस माह सबसे अधिक कोरोना संक्रमितों ने जग छोडा

मुक्तिधाम में औसत दो से तीन अंतिम संस्कार होते है, इस माह अंतिम संस्कार का आंकड़ा औसत पांच तक पहुंचा, इस माह अब तक 13 कोरोना संक्रमितों का किया गया अंतिम संस्कार

By: Bhagwat

Published: 30 Sep 2020, 04:33 PM IST

ब्यावर. कोरोना संक्रमण के बढ़ते आंकड़ों के बीच अब मरने वालों की संख्या भी बढऩे लगी है। जून व जुलाई माह में एक- एक, अगस्त में सात एवं सितम्बर में 13 कोरोना संक्रमण से मरे शवों का बिजयनगर रोड स्थित मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार किया गया। अब तक कुल 22 कोरोना संक्रमित शवों का यहां पर अंतिम संस्कार किया गया। औसत प्रतिदिन दो से तीन शवों का अंतिम संस्कार यहां होता है। अब यह आंकडा बढ़कर औसत चार से पांच तक पहुंच गया है। इस माह कुल मरने वालों का आंकड़ा शतक तक पहुंच जाएगा। इस माह में सोमवार तक कुल मरने वालों का आंकड़ा 98 तक पहुंच गया। जबकि इस माह कोरोना संक्रमितों की संख्या अब तक664 तक पहुंच गई है। शहर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढऩे के साथ ही मरने वालों की संख्या भी बढ़ रही है। बिजयनगर रोड स्थित मुक्तिधाम में औसत प्रतिदिन दो से तीन अंतिम संस्कार किए जाते रहे है। अब इनकी संख्या बढ़ रही है। इस माह में प्रतिदिन पांच तक शवों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है। इस माह तीन सितम्बर को छह, चार को सात, 11 को पांच, 15 को पांच, 17 को छह, 21 को पांच, 24 को 6 एवं 25 सितम्बर को पांच शवों का अंतिम संस्कार किया गया। इस माह मुक्तिधाम में सोमवार तक 98 शवों का अंतिम संस्कार किया गया। इनमें से 13 कोरोना संक्रमितों का अंतिम संस्कार किया गया। पिछले सालों के सितम्बर माह के आंकड़ों का आंकलन करे तो मरने वालों की संख्या दुगुनी हो गई।

वर्ष 2020 के आंकड़ों पर एक नजर

इस साल जून माह में 72, जुलाई माह में 61, अगस्त माह में 91 एवं सितम्बर माह में 98 की मृत्यु हुई। जिनका अंतिम संस्कार बिजयनगर रोड स्थित मुक्तिधाम में किया गया। इस साल जून माह में एक, जुलाई माह में एक, अगस्त माह में सात एवं सितम्बर माह में 13 कोरोना संक्रमितों का अंतिम संस्कार किया गया। इसमें अजमेर सहित अन्य स्थानों पर संक्रमितों की मृत्यु के बाद किए गए अंतिम संस्कार के मामले अलग है।

वर्ष 2019 के आंकड़ों पर एक नजर

वर्ष 2019 में बिजयनगर रोड स्थित मुक्तिधाम में जून से अक्टूबर माह तक किए गए अंतिम संस्कार के आंकड़ों पर नजर डाले तो अगस्त माह के बाद इस साल आंकड़ों में इजाफा हुआ है। गत साल जून माह में 72, जुलाई माह में 55, अगस्त माह में 57, सितम्बर माह में 53 एवं अक्टूबर माह में 65 शवों का अंतिम संस्कार किया गया। इन दोनों सालों के आंकड़ों पर आंकलन करे तो जुलाई माह तक तो आंकडों का औसत करीब समान ही रहा। इस साल अगस्त माह से आंकड़े में इजाफा हुआ है।

इनका कहना है...

हर दिन औसत दो से तीन शवों का मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार होता है। इस माह अंतिम संस्कार की संख्या बढ़ी है। अंतिम संस्कार को लेकर व्यवस्थाओं का पूरा ध्यान रखा जाता है। इस माह अब तक 98 शवों का अंतिम संस्कार किया गया है।

-कालूसिंह, व्यवस्थापक

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned