छह साल बीते शहर से सटे गांवों को ही नहीं मिल सका पानी

-प्रदेश कांग्रेस के निर्वतमान सचिव पारस पंच ने भाजपा के शासन में देरी का लगाया आरोप, बोले कांग्रेस का राज आने के बाद काम ने पकड़ी गति, इस साल तक पहुंच जाएगा सभी गांवों में पानी

By: Bhagwat

Published: 30 Sep 2020, 10:34 PM IST

ब्यावर. जवाजा बीसलपुर परियोजना के तहत जवाजा क्षेत्र के गांवों में पानी पहुंचाने का काम नियत समय पर पूरा नहीं हो पा रहा है। शहर से सटे कई गांवों में ही अब तक पानी नहीं पहुंच सका है। प्रदेश कांग्रेस के निर्वतमान सचिव पारस पंच ने आरोप लगाया कि भाजपा की सरकार में काम की गति धीमी होने से नियत समय पर पानी नहीं पहुंच सका। कांग्रेस की सरकार आने के बाद काम ने गति पकडी है। इस साल तक सभी गांवों में पानी पहुंच जाएगा। पंच ने बताया कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा मई 2013 में प्रशासनिक एंव वित्तिय स्वीकृति जारी कर 21 अगस्त 2013 को अतिरिक्त मुख्य अभियन्ता क्षेत्र अजमेर ने जवाजा पेयजल योजना के लिए 247.81 करोड़ का कार्यादेश जारी किया गया। तब से लेकर अब तक जलदाय विभाग द्वारा 936 किलोमीटर लम्बी पाईप लाईन जोडऩे और बिछाने का कार्य एंव 855 किलोमीटर तक की लाईनों कि टेस्टिंग का कार्य पूर्ण कर, 478 भूतल जलाशयों, 69 उच्च जलाशयों व 7 पम्प हाउसों के माध्यम से कुल 281 पी.एस.पी. एवं 454 सीडब्लयूटी का कार्य पूर्ण किया गया है। इससे दौलतपुरा, मकरेड़ा, जालिया एंव देवाता चौराहा कलस्टर फीडरों के 139 गांवों व 171 ढाणियों तक पानी पहुंचा। उन्होंने बताया कि पूर्व सरकार के समय काम समय पर पूरा नहीं किया जा सका। यहीं कारण है कि अब तक शहर से लगते हुए, रामसर बलियान, बाडिय़ा श्यामा, सहदेव नगर, साईनाथ कॉलोनी, बनेवड़ी, बिलातों का बाडिय़ा, ठिकराना मेन्द्रातान, भोजपुरा, इन्द्रा कॉलोनी, उदयपुर रोड़ चुंगी नाका, मालियो की बाड़ी, गोविन्दपुरा, मोतीपुरा (मोतीनगर)को पानी नहीं मिल सका है। इन गांवों में भी जल्द ही सप्लाई सुचारु हो सकेगी। उन्होंने बताया कि इस साल तक सभी गांवों में पानी पहुंच जाएगा। गौरतलब है कि जवाजा पेयजल परियोजना के तहत 199 गांवों एवं 390 ढाणियों को पानी पहुंचाया जाना है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned