scriptbeawar | नहीं ली सुध तो सड़कें बनेंगी दरिया | Patrika News

नहीं ली सुध तो सड़कें बनेंगी दरिया

आबादी क्षेत्र बढ रहा, घट रहे नाले, नहीं ली सुध तो सड़कें बनेंगी दरिया
बरसाती नालों की स्थिति खराब, सफाई के अभाव में कचरे व झाडिय़ों से अटे

ब्यावर

Updated: May 11, 2022 08:34:39 pm

ब्यावर. शहर की आबादी व क्षेत्रफल के विस्तार के साथ ही पानी निकासी के नालों की संख्या घटती जा रही है। जो नाले बच गए उन्हें धीरे-धीरे पाटा जा रहा है। शहर से एकत्र होने वाला कचरा भी यहां डालने के मामले सामने आ रहे हैं। हालात यह हैं कि छावनी नदी एवं नून्द्री नदी का फैलाव सिमटता जा रहा है। पूर्व में नगर परिषद एवं तहसील प्रशासन ने इसका सेटेलाइट सर्वे करवाने का दावा किया, लेकिन समय के साथ ही इस दावे को बिसरा दिया गया। शहर में नदी व नालों को पाटने का सिलसिला नियमित रूप से जारी है।
नहीं ली सुध तो सड़कें बनेंगी दरिया
नहीं ली सुध तो सड़कें बनेंगी दरिया
नगर परिषद प्रशासन की तरफ से बरसाती नालों की सफाई न होना परेशानी का कारण बन सकती है। पिछली साल आई भारी बारिश की वजह से शहर के बरसाती नालों की स्थिति खस्ता हो गई थी। नदी नालों की स्थिति खराब पड़ी है। इनकी प्रशासन द्वारा लंबे समय से सुध तक नहीं ली गई है। शहर के विभिन्न नदी नाले कचरे से अटे पड़े हैं। अगर प्रशासन ने समय रहते इन नदी-नालों की सफाई नहीं कराई तो बरसात में संकट बढ़ेगा।छावनी-लिंक रोड स्थित बरसाती नाले
छावनी क्षेत्र को अजमेर रोड से जोडऩे वाली दोनों ही पुलिया पर स्थित बरसाती नालों में सफाई का अभाव है। यहां स्थित नाले कचरे से अटे पड़े हैं, वहीं नाले के दोनों तरफ जंगली पौधे उगे हुए हैं। इससे नाले में पानी की निकासी निर्बाध तरीके से नहीं हो पाती है। इसके अलावा नगर परिषद के सफाई कर्मियों ने नाले को अघोषित कचरा डिपो बना दिया है, जिससे नाले के चारों तरफ गंदगी का अंबार लगा पड़ा है।
सतपुलिया स्थित नाला

सतपुलिया स्थित नाले की स्थिति सबसे ज्यादा बद्तर हो रखी है। सतपुलिया नदी के पेटे पर कचरे का अंबार लगा पड़ा है। गौरतलब है कि बरसात के मौसम में सतपुलिया नदी में सबसे ज्यादा पानी का बहाव होता है। वहीं, फिलहाल नदी की स्थिति देख कर लगता है कि अगर नदी के पेेटे की सफाई नहीं की गई तो बरसात के वक्त यहां स्थिति और भी बद्तर हो जाएगी।
मसानिया नदी स्थित पुलिया

इस पुलिया की सफाई भी पिछले लंबे समय से नहीं हुई है। सफाई के अभाव में पुलिया के दोनों तरफ मिट्टी व कचरे का अंबार लगा है। नदी के बहाव क्षेत्र में बने मकानों को बारिश के वक्त किसी तरह का खतरा न उत्पन्न हो इसके लिए प्रशासन को नदी क्षेत्र की सफाई जल्द से जल्द करवानी होगी।
नून्द्री नदी में कचरा डालने का सिलसिला जारीनून्द्री नदी में कचरा डालकर पाटने का काम किया जा रहा है। इससे पानी के बहाव क्षेत्र में अवरोध बनेंगे। इससे शहर की कई कॉलोनियों में पानी भरने की समस्या बनेगी। इसके बावजूद इस ओर प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है।
कचरे में गुम सेदरिया स्थित बरसाती नालाउदयपुर रोड स्थित कृषि मंडी लिंक रोड पर बना नाला अब अपना अस्तिव खोने की कगार पर है। प्रशासन की अनदेखी से नाले पर अब कचरा डिपो बन चुका है। पिछले लंबे वक्त से यहां पर आस-पास के इलाकों से इकट्ठा किया हुआ कचरा डाला जा रहा है जिसने यहां बने नाले को खत्म कर दिया है। लिंक रोड पर बने नाले का रास्ता रुकने का खामियाजा क्षेत्रवासियों को भुगतना पड़ता है।
नाले अटे पड़े हैं कचरे सेशहर के अधिकांश नाले कचरे से अटे पड़े हैं। इन नालों की समय पर सफाई नहीं होने से कचरे में कई स्थानों पर घास उग गई है। इन नालों की सफाई की ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। यही िस्थति रही तो सड़कों पर पानी बहेगा एवं नालों का अस्तित्व ही खत्म हो जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

QUAD Summit: अमरीकी राष्ट्रपति ने उठाया रूस-यूक्रेन युद्ध का मुद्धा, मोदी बोले- कम समय में प्रभावी हुआ क्वाड, लोकतांत्रिक शक्तियों को मिल रही ऊर्जाWhat is IPEF : चीन केंद्रित सप्लाई चैन का विकल्प बनेंगे भारत, अमरीका समेत 13 देशWeather Update: दिल्ली में आज भी बारिश के आसार, इन राज्यों में आंधी-तूफान की संभावनाहरियाणा के जींद में सड़क हादसा: ट्रक और पिकअप की टक्‍कर में 6 की मौत, 17 घायलटाइम मैगजीन ने जारी की 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट, जेलेंस्की, पुतिन के साथ 3 भारतीय भी शामिलHaj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाआ गया प्लास्टिक कचरे का सफाया करने वाला नया एंजाइमWomen's T20 Challenge: पहले ही मैच में धमाकेदार जीत दर्ज की सुपरनोवास ने, ट्रेलब्लेजर्स को 49 रनों से हराया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.