रिश्वत के लिए डोली नीयत

रिश्वत के लिए डोली नीयत

Tarun Kashyap | Publish: Apr, 17 2018 05:09:54 PM (IST) Beawar, Rajasthan, India

चारागाह से दूर भूखंड दिखाकर जमाबंदी देने के एवज में मांगी थी रिश्वत, आरोपित पटवारी गिरतार, पचास हजार रुपए की राशि मिली पटवारी के कब्जे से

पचास हजार की रिश्वत लेते पटवारी को पकड़ा
चारागाह से दूर भूखंड दिखाकर जमाबंदी देने के एवज में मांगी थी रिश्वत, आरोपित पटवारी गिरतार, पचास हजार रुपए की राशि मिली पटवारी के कब्जे से, पांच लाख रुपए मांगी थी राशि
ब्यावर. नून्द्रीमालदेव ग्राम पंचायत के ग्राम गोविन्दपुरा में चारागाह भूमि से भूखंड को दूर दर्शाकर जमाबंदी देने के एवज में पचास हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए सोमवार को पटवारी को गिरतार किया। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरों की टीम ने तहसील के पास ही स्थित पटवार गृह में रिश्वत की राशि लेते हुए आरोपित पटवारी को पकड़ा। इस मामले में परिवादी ने अन्य अधिकारियों तक भी रिश्वत की राशि का हिस्सा दिए जाने का आरोप लगाया है। ब्यूरों इन आरोपों की भी जांच कर रहा है। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरों के पुलिस उपअधीक्षक महिपालसिंह चौधरी ने बताया कि अमित प्रजापत ने शिकायत दी कि नून्द्री मालदेव पटवारी संजय जैन के पास गोविन्दपुरा में स्थित जमाबंदी लेने गया। पटवारी ने उक्त जमीन चारागाह होने की बात कहकर इसकी किस्म बदलकर जमाबंदी देने के पांच लाख की रिश्वत मांगी। ब्यूरों ने इस शिकायत की जांच करवाई तो इसकी पुष्टि हो गई। इस मामले में परिवादी अमित सोमवार को पचास हजार की राशि लेकर पटवारी को पहली किश्त देने पहुंचा। तहसील कार्यालय के पास ही स्थित पटवार गृह में रिश्वत की पचास हजार की राशि लेने की जानकारी मिलते ही ब्यूरों की टीम ने पटवारी संजय जैन को पकड़ लिया। ब्यूरों की तलाशी में यह राशि मिल गई। ब्यूरों की टीम आरोपित पटवारी को पकड़करथाने ले आई। इस मामले में परिवादी अमित का आरोप हैकि पटवारी संजय जैन ने उससे कहा कि इस राशि में अन्य अधिकारियों की हिस्सेदारी भी शामिल थी। हालांकि इस मामले की जांच कर रहे उपअधीक्षक महिपालसिंह चौधरी का कहना हैकि अब तक ऐसा कुछ नहीं कहा जा सकता। फिलहाल मामले की जांच चल रही है। टीम में सीआईमोहमद इस्माइल खान, रामचंद्र, कैलाश, शिव सिंह सहित अन्य शामिल थे।
हाथ पर लिखकर बताई रकम
परिवादी अमित का आरोप है कि पटवारी ने पांच लाख की राशि हाथ पर लिखकर बताई। पिछले कुछ दिनों से इस मामले को लेकर यह राशि दिए जाने पर जमाबंदी देने की बात कह रहाथा। इसके तहत ही पहली किश्त दी गई। यह राशि तीन दिन में दिए जाने की पटवारी मांग कर रहाथा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned