तेरह जोड़े परिणय-सूत्र में बंधे

रावत समाज का सामूहिक विवाह संपन्न

ब्यावर (अजमेर).

राजस्थान रावत-राजपूत महासभा के तत्वावधान में उदयपुर रोड स्थित आशापुरा माता मंदिर परिसर में रविवार को सामूहिक विवाह सम्मेलन का आयोजन किया गया। इसमें 13 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे।

समारोह के मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री डॉ. लक्ष्मणसिंह रावत थे। अतिविशिष्ट अतिथि विधायक शंकरङ्क्षसह रावत व भीम विधायक सुदर्शनसिंह रावत थे। अध्यक्षता महासभा अध्यक्ष भगवानसिंह रावत ने की। कॉलेज रोड स्थित एक समारोह स्थल से प्रात: नौ बजे बिंदौली निकाली गई। मार्ग में जगह-जगह स्वागत द्वार लगाकर बिंदौली का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया गया। गायत्री परिवार के सदस्यों द्वारा तैयार वेदियों पर वैदिक मंत्रोच्चारों के साथ वर-वधुओं का पाणिग्रहण संपन्न हुआ।

समारोह में महासभा के पूर्व अध्यक्ष बिरदसिंह खोडमाल, नाथूसिंह बोच, पृथ्वीसिंह सिरयारी, महासभा अजमेर के पूर्व अध्यक्ष ज्ञानसिंह लाडपुरा, कोट-किराना सरपंच दिलीपसिंह सीरमा, पूर्व युवा अध्यक्ष आनंदसिंह सुरडिया, पीसांगन प्रधान अशोकसिंह गोवलिया, मसूदा प्रधान नारायणसिंह रावत, अखिल भारतीय रावत-राजपूत महासभा अध्यक्ष रतनसिंह खींवल, पूर्व अध्यक्ष पन्नेसिंह, राजेन्द्रसिंह रावत नोलखा, सेवासिंह बडलिया, शंभूसिंह कानस, भिंयासिंह, गणपतसिंह विशिष्ट अतिथि रहे।

कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ महामंत्री मानसिंह चौहान ने किया। सामूहिक विवाह समिति की ओर से अतिथियों एवं वर-वधुओं को विवाह प्रमाण पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट किए। समारोह में महासभा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष आसूसिंह पीपरेलू, सेवानिवृत शिक्षाधिकारी केसरसिंह सीरमा, मोहनसिंह राठौड़, महामंत्री भगवानसिंह सूजावत, प्रवक्ता माधूसिंह बरजाल, कालूसिंह राणावत सहित अन्य उपस्थित थे।

Narendra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned