सारी शराब गटक गए पियक्कड़!

सारी शराब गटक गए पियक्कड़!

Tarun Kashyap | Publish: May, 18 2018 03:34:51 PM (IST) Beawar, Rajasthan, India

किसी डीलर ने जमा नहीं कराया शराब का बचा हुआ स्टॉक, मार्च के अंतिम सप्ताह तक भरी हुई थी दुकानें

ब्यावर. वृत्त की 59 शराब की दुकानों में से एक भी दुकान ऐसी नहीं है जहां पर वित्तीय वर्षके समापन तक एक भी शराब की बोतल बची हो। शराब विक्रेताओं ने एक भी बोतल विभाग को वापस जमा नहीं करवाई है। सभी ने अपनी दुकान की निल बटा निल रिपोर्टदी है। जिसका मतलब है कि उनकी दुकान का सारा स्टॉक गत वित्तीय वर्ष में बिक चुका है। यह खुलासा हुआ है विभाग की ओर से शेष चल रही 11 शराब की दुकानों के आवंटन किए जाने के बाद। इन दुकानों के आवंटन करवाने में विभाग को खासी मशक्कत करनी पड़ी। उपखण्ड की सभी 48 समूह की शराब की दुकानों का आवंटन होने के बाद विभाग देशी व अंग्रेजी सहित कपोजिट शराब की दुकानें की सूची तैयार कर रहा है। इन दुकानों में से कई पुराने दुकानदारों को फिर से ठेका जारी किया गया है। इस कारण उन लोगों ने अपना स्टॉक जमा नहीं करवाया।
नए ठेकेदार देते हैं राशि...
आबकारी विभाग के अधिकारियों का कहना है कि किसी पुराने शराब विक्रेता के पास स्टॉक बच जाता है तो वह कार्यालय में जमा होता है। इसके बाद नए ठेकेदार को वह स्टॉक जारी करके उतनी शराब की राशि पुराने ठेकेदार को लौटा दी जाती है।
ब्रांचे मिली तो खुली परतें ...
मार्चके अंत में स्टॉक मिलान में शराब की बोतलें कम ज्यादा निकल जाती है। कई शराब के ठेकेदार दूसरी जगह ब्रांच खोलकर शराब बेच देतेे है। गत दिनों प्रशिक्षु आईएएस की ओर से ब्यावर सहित आस पास के क्षेत्रों में अवैध शराब की ब्रंाचें पकड़ी गई तो इसका खुलासा हुआ।
फैक्ट फाइल...
ब्यावर उपखण्ड को 48 समूह में बांटा गया है। इनमें 59 शराब की दुकानें है। जिसमें 13 शराब शुद्ध देशी शराब की है। जबकि 35 कपोजिट (अंग्रेजी व देशी) तथा 11 केवल अंग्रेजी व बीयर की दुकानें है। यह 11 दुकानें शहरी क्षेत्र की है।
इनका कहना है...
ठेकेदारों के पास स्टॉक खत्म हो गया। कुछ दुकानदारों ने वापस वही दुकान ठेके पर ली है। इस कारण भी स्टॉक जमा नहीं करवाया है। सभी का मिलान कर लिया गया है।
विकास कुमार, वृत्त आबकारी निरीक्षक ब्यावर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned