इधर Tik Tok समेत 59 चीनी एप्लीकेशन पर लगा बैन, उधर 2 बड़े प्रोजेक्ट रद्द होने से ड्रैगन को लगा झटका

भारत और चीन के बीच चल रही तनातनी (India China Dispute) के इस माहौल में ही केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला किया है (Tiktok And 59 Chinese application banned in India) (Bihar Government Canceled Chienese Company's 2 Contracts) (Boycott China) (TikTok Ban) (Banned Chinese Application List)...

By: Prateek

Updated: 29 Jun 2020, 11:01 PM IST

प्रियरंजन भारती

(बेगूसराय,मुजफ्फरपुर): भारत और चीन के बीच चल रही तनातनी (India China Dispute) के इस माहौल में ही केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला किया है। चीनी सामान और ऐप का बहिष्कार (Boycott China) करने की मांग जोरों से चल रही है। इसी बची सरकार ने फैमस टिक टॉक (Tiktok) समेत 59 चीनी एपलीकेशन पर प्रतिबंध (Tiktok And 59 Chinese application banned in India) लगा दिया है। इधर बिहार में भी राज्य सरकार ने सरकार ने गंगा नदी पर गांधी सेतु के समानांतर बन रहे पुल के दो प्रोजेक्टों के कॉन्ट्रैक्ट इसलिए रद्द कर दिए कि निर्माण एजेंसियां अपने चाइनीज पार्टनर को हटाने के लिए तैयार नहीं थीं।पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा कि हमें अब चीन बर्दाश्त नहीं है।

(List Of 59 Chinese Apps Banned By Modi Government)

यह भी पढ़ें: Tik Tok Video बनाने वाले 10 वर्षीय बच्चे ने की आत्महत्या, मां नहीं झेल पाईं सदमा, उठाया खौफनाक कदम

पिछले साल चुनी गई थी कंपनियां

इधर Tik Tok समेत 59 चीनी एप्लीकेशन पर लगा बैन, उधर 2 बड़े प्रोजेक्ट रद्द होने से ड्रैगन को लगा झटका

पथ निर्माण मंत्री और सूबे के वरिष्ठ भाजपा नेता नंदकिशोर यादव ने कहा कि चीन की ज्यादतियों के बाद हम उसे अब सहन करने वाले नहीं हैं। पिछले साल दिसंबर में केंद्र सरकार के आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी ने पुल निर्माण के लिए चाइना हार्बर इंजीनियरिंग कंपनी और शानशी रोड ब्रिज ग्रुप कंपनी (ज्वाइंट वेंचर)का चयन किया था।स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही इस कमेटी के अध्यक्ष हैं। नंदकिशोर यादव ने बताया कि कंपनियों को चाइनीज पार्टनर बदलने के लिए कहा गया था। मगर वे ऐसा करने को तैयार नहीं हुए।अब नए सिरे से निर्माण कंपनियों का चयन किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: भारत का खुलकर समर्थन कर रहा America, कहा-चीन पड़ोसियों पर उकसावे वाली कार्रवाई कर रहा


गांधी सेतु के समानांतर बनेगा पुल

गंगा नदी पर गांधी सेतु के समानांतर पटना से वैशाली तक 14.500 किलोमीटर लंबे पुल निर्माण का प्रोजेक्ट भारत सरकार के सहयोग से पूरा होना है। प्रोजेक्ट में 5.634 किलोमीटर लंबा गंगा सेतु है जो गंगा के ऊपर और एन एच19 से संबंध रखता है। इसमें चार अंडरपास एक रेल ओवरब्रिज,1580 मीटर एक और पुल, चार छोटे पुल, पांच बस शेल्टर और 13 रोड चौराहे बनाए जाने हैं। 29.26 अरब की अनुमानित लागत से 3.5 वर्षों में निर्माण कार्य पूरा होने का लक्ष्य निर्धारित है।

बिहार की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे...

Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned