रोजाना 10 घंटे बिजली गुल होने से 40 गांवों के ग्रामीण परेशान

रोजाना 10 घंटे बिजली गुल होने से 40 गांवों के ग्रामीण परेशान
10-hour power cuts daily from 40 villages in rural upset

Satyanarayan Shukla | Updated: 24 Jun 2016, 12:28:00 AM (IST) Bemetara, Chhattisgarh, India

देवरबीजा सब स्टेशन में लगा पावर ट्रांसफार्मर आठ दिन से खराब, शिकायत के बावजूद विद्युत विभाग के अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान

बेमेतरा(देवरबीजा). एक ओर राज्य सरकार प्रदेश में 24 घंटे बिजली आपूर्ति करने का दावा करती है, वहीं दूसरी ओर देवरबीजा सबस्टेशन से जुड़े गांवों में 24 में से सिर्फ 14 घंटे ही बिजली की सप्लाई की जा रही है। बाकी 10 घंटे तो यहां बिजली गुल रहती है। अंचल के ग्रामीण सबसे ज्यादा बिजली कटौती से परेशान हैं। सुबह से शाम तक बिजली कटौती हो रही है। अभी गर्मी भी बहुत ज्यादा पड़ रही है। इसलिए पंखा-कूलर चलाने के लिए बिजली जरूरी है। लेकिन बिजली गुल रहने के कारण ग्रामीण गर्मी की मार सहने के लिए विवश हैं।

विभागीय अधिकारी मरम्मत की ओर नहीं दे रहे ध्यान
देवरबीजा सबस्टेशन से जुड़े गांवों में इन दिनों 24 घंटे में 10 घंटे बिजली आपूर्ति बंद रहती है। इसका प्रमुख कारण बिजली विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों की लापरवाही है। अंचल में बारिश पूर्व विद्युत विभाग ने मेंटेनेंस का काम नहीं किया है। जिसकी वजह से बार-बार विद्युत आपूर्ति बाधित हो रही है। कभी कहीं का तार टूट जाता है, तो कभी कोई ट्रांसफार्मर खराब हो जाता है। अंचल में कई स्थानों पर बिजली पोल व तार झुका हुआ है। लेकिन विभागीय अधिकारी इनकी मरम्मत की ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है।

साजा ब्लॉक के गांवों में भी बिजली कटौती की शिकायत
इसी प्रकार साजा ब्लॉक के ग्राम बीजा, तेंदुवा, सेमरिया, घोटवानी, तेंदुभाठा, केसतरा, खामडीह, रेंगाबोड़, कातलबोड़, बगलेडी, खैरझिटीकला, रौद्रा, कंदई, केछवई, पदमी, घिवरी, हरदास एवं बेरला ब्लॉक के देवरबीजा, सिरसा, सिंघौरी, भेडऩी, हडग़ांव, घोटमर्रा, केशडबरी, कोदवा, मोहभट्टा, मनियारी, सल्धा, संडी, डरजरा इन सभी गांवों के ग्रामीण अघोषित बिजली कटौती से बहुत परेशान हैं।

अंचल के 40 गांवों का एक फीडर एक होने के कारण परेशानी अधिक
देवरबीजा डिविजन के अंतर्गत करीब 40 गांव आते हैं और फीडर एक ही है। उदाहरण के तौर पर जैसे देवरबीजा में कुछ प्राब्लम है तो उसको बनाने के लिए फीडर एक होने के कारण सभी गांवों की बिजली सप्लाई को बंद करना पड़ता है। ग्रामीणों ने फीडर अलग करने के लिए कई बार देवरबीजा जेईई को कहा, लेकिन उन्होंने आज तक ध्यान नहीं दिया। बिजली कटौती से अभी किसानों को सबसे ज्यादा परेशानी हो रही है। बीजा के एक किसान इंदल साहू ने बताया कि अभी मेरे को धान का थरा देना है, लेकिन सभी तरह से लाइन ही नही रहता है, जिससे अभी तक थरा नहीं दिया गया है।

उच्च अधिकारियों को जानकारी दी गई है
देवरबीजा के कनिष्ठ अभियंता, नवीन वर्मा का कहना है कि पावर ट्रांसफार्मर के खराब होने के कारण अभी कटौती की जा रही है और इसकी जानकारी उच्च अधिकारियों को दे दी गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned