जिले में 11 महीनों में हुए 303 सड़क हादसों में 119 लोगों की मौत

जिले में 11 महीनों में हुए 303 सड़क हादसों में 119 लोगों की मौत

Laxmi Narayan Dewangan | Publish: Dec, 09 2018 12:04:55 AM (IST) Bemetara, Bemetara, Chhattisgarh, India

चार अधिकारियोंको दुर्घटनाएं रोकने के लिए विशेष प्रशिक्षण के लिए भेजा गया, जिले के डेंजर जोन सतर्कता बढ़ाई गई

बेमेतरा. जिले में 11 महीनों में हुए सड़क हादसों में जिले में कुल 303 दुघटनाएं हो चुकी है। इसमें से 119 लोगों की मौत हो गई। वहीं 415 व्यक्ति घायल हो गए। प्रदेश में हादसे के लिहाज से जिले की स्थिति ठीक नहीं मानी गई है।
मिली जानकारी के अनुसार जिले मे हादसों में कमी लाने की दरकार है। दो पर्ष यानी 2016 में 320 हादसों में 105 लोगों की मौत हुई। वही 398 व्यक्ति घायल हुए हैं। 2017 के दौरान 319 सड़क हादसे में 122 लोगों की मौत हुई है, वही 369 व्यक्ति घायल हुए हैं। इन दोनों वर्षों में 12 महीने में हुए हादसों की संख्या 2018 में 11 महीने के दौरान सड़क हादसे की संख्या कम हुई पर इन हादसों में मरने वालों की संख्या लगभग बराबर की स्थिति में है। घायलों की संख्या दोनों वर्ष से ज्यादा है।

दोपहिया वाहन ले रहे जान
जिले में हुए हादसों में सबसे अधिक मौत दोपहिया वाहनों में हुई है। जिले में 2016 के दौरान दोपहिया वाहनों से 127 हादसे हुए थे, जिनमें 29 लोगों की मौत हुई अैार 127 लोग घायल हुए थे। 2017 में 138 दोपहिया वाहन दुर्घटना में 40 लोगों की मौत हुई थी, वहीं 126 लोग घायल हुए थे। 2018 के 11 महीनों के दौरान 128 हादसे मे 41 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 143 व्यक्ति घायल हुए है। जिले के तीन वर्षों के आंकलन में दोपहिया वाहन में हादसे की संख्या, मृतकों की संख्या 2018 के 11 माह से ज्यादा है। जानकार मानते हंै कि जिले में दीगर वाहनों की अपेक्षा मोटर साइकिल से दो से तीन गुना अधिक लोगों की जान गई है।

दिगर वाहनों में हादसे कम
जिले में 2018 ट्रक से 33 हादसे हुए है, जिसमें 9 मौते व 42 लेागों को चोट आई है। टैंकर से दो हादसे हुए हैं, जिसमें एक की मौत और 8 घायल हुए हैं। बस से 8 हादसे हुए हैं, जिसमे 5 लोगों की मौत हुई है और 34 लोग घायल हुए हंंै। अन्य भारी वाहनों में हुई 16 दुर्घटना में 8 लोगों की मौत व 118 लोग घायल हुए हंै। तीन पहिया वाहन से एक हादसा हुआ है, जिसमें 2 लोग घायल हुए थे। अज्ञात वाहनों में हुए 36 हादसों में 30 लोगों की मौत हुई और 8 घायल हुए थे। अन्य वाहनों से हुए 21 हादसों में 13 लोगों की मौत व 52 लोग घायल हुए हंै।

दिसंबर व जनवरी में अधिक हादसे
जिले मे 2017 के दिसंबर में सर्वाधिक 58 सड़क हादसे हुए थे, जिसमें दोपहिया वाहन से 13 सड़क हादसे में 3 लोगों की मौत हुई थी, वहीं 13 लोग घायल हुए थे। इसके आलावा ट्रकों से हुई 7 दुर्घटना में 6 लोगों की मौत हुई थी, वहीं 3 घायल हुए थे। अन्य भारी वाहनों से हुए 3 हादसे में 2 लोगों की मौत हुई थी। अन्य वाहनों से एक दुर्घटना हुई थी, जिससे 5 लोगों की मौत हुई थी। वहीं 35 लोग घायल हुए थे। 2018 में जनवरी में 36 दुर्घटना में 19 लोगो की मौतें हुई थी, वहीं 64 लोग घायल हुए थे। जनवरी में भी दोपहिया वाहन से होने वाले हादसों की संख्या में मौत होने की संख्या अधिक थी। बस व अन्य वाहनों में हुए हादसे में 6 लोगों की मौत हुई थी। 2016 के दौरान भी दिसंबर एवं जनवरी 2017 में हादसे अधिक हुए थे ।

चार लोगों के प्रशिक्षण के लिए भेजा गया, कैमरे लगेंगे
जिले में होने वाले हादसे को रोकने हो रहे प्रयासो पर एसपी एचआर मनहर ने बताया कि 4 अधिकारियों को दुर्घटनाएं रोकने के लिए विशेष प्रशिक्षण के लिए भेजा गया है। जिले के डेंजर जोन सतर्कता बढ़ा दी गई है। नेशनल हाइवे में ग्राम गर्रा तिग्डडा व बेरला तिग्डडा में सीसी कैमरा लगाया जाएगा। बेरला तिग्डडा में भी सीसी कैमरा लगेगा। दोनों स्थानों पर डिवाइडर बनाया जाएगा। जिसका प्रपोजल जिला प्रशासन को भेजा जाएगा। गर्रा तिग्डडा का चौड़ीकरण किया जाएगी। जिले के चार अन्य स्थानों के लिए भी प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। दीगर शहरो की तरह ऑनलाइन नोटिस जारी करने की सुविधा बहाल नहीं हुई, जो आने वाले दिनों में लागू हो सकता है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned