राजपुर गोशाला में 40 मवेशियों की मौत

साजा विधानसभा में संचालित राजपुर गोशाला में दो-तीन दिनों के भीतर में 40 से अधिक मवेशियों की मौत हो गई है।

By: संजय दुबे

Published: 18 Aug 2017, 12:35 AM IST

बेमेतरा. साजा विधानसभा में संचालित राजपुर गोशाला में भूख-प्यास व बदइंतजामी से दो-तीन दिनों के भीतर में 40 से अधिक मवेशियों की मौत हो गई है। मामले में गुरुवार को धमधा एसडीएम राजेश पात्रे व धमधा थाना के जवानों ने गोशाला में जाकर स्थिति का आंकलन किया, वहीं पशु चिकित्सकों ने मृत मवेशियों का पोस्टमार्टम किया। इस दौरान विहिप और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने मवेशियों की मौत पर गोशाला पहुंचकर विरोध व्यक्त किया।

ग्रामीणों ने दिया था थाने में ज्ञापन

ज्ञात हो कि साजा विधानसभा क्षेत्र ग्राम राजपुर का थाना क्षेत्र धमधा के अंतर्गत है। मवेशियों की मौत से उद्वेलित ग्रामीणों ने गत दिवस राजपुर सरपंच के नेतृत्व में पहले गोशाला का घेराव कर नारेबाजी की, जिसके बाद धमधा थाना में ज्ञापन सौंपकर गोशाला संचालक के विरुद्ध मामला दर्ज कर कार्रवाई की मांग की थी। ग्रामीण मोहन यदु, गौकरण साहू ने बताया कि गोशाला में आए दिन हो रही मवेशियों की मौत के बावजूद संबंधित संचालक पर कार्रवाई नहीं की जा रही है। जिससे ग्रामीणों में आक्रोश है।

दो साल बाद भी ठोस कार्रवाई का इंतजार
वर्ष 2015 में ग्राम रानो में दो दर्जन से अधिक मवेशियों की मौत का मामला सामने आया था। उस समय की कलक्टर रीता शांडिल्य के जांच के आदेश के बाद जांच अधिकारी उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवाएं ने रानो गोशाला की जांच के बाद गोशाला संचालक के खिलाफ कार्रवाई के लिए तत्कालीन कलक्टर को जांच प्रतिवेदन सौंपा था। जिसके बाद कलक्टर कार्यालय के माध्यम से रिपोर्ट गोसेवा आयोग, रायपुर भेजी गई थी, लेकिन कार्रवाई अब तक लंबित है।

गोशालाओं के अनुदान पर लगी रोक
बताना होगा कि ग्राम राजपुर, गोडमर्रा व रानो में संचालित गोशाला को एक ही व्यक्ति द्वारा संचालित किया जा रहा है। गोसेवा आयोग अध्यक्ष विशेसर पटेल के अनुसार, ग्राम रानो, गोडमर्रा व राजपुर की गोशालाओं में व्याप्त बदइंतजामी की लगातार शिकायत मिल रही थी। साथ ही करीब 2 माह पूर्व आयोग के अधिकारियों के निरीक्षण में ग्राम गोडमर्रा की गोशाला मे एक भी मवेशी नहीं मिली थी। वर्ष 2016 में भी आयोग के पदाधिकारियों के निरीक्षण में गोशाला में अनियमितता पाई गयी थी। वहीं वर्ष 2017 में भी स्थिति में सुधार नहीं होने पर तीनों गोशालाओं के अनुदान पर रोक लगा दी गई।

कार्रवाई के दिए निर्देश
साजा विधायक लाभचंद बाफना ने कहा कि गोसेवा आयोग अध्यक्ष, धमधा थाना प्रभारी व एसडीएम से फोन पर चर्चा कर मामले की जांच के पश्चात् दोषियों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

 

संजय दुबे Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned