कोरोना के बाद एक और संक्रामक बीमारी की चपेट में छत्तीसगढ़, लम्पी स्किन डिसीज से खतरे में गौवंश

कोरोना की तर्ज पर ही पशुओं में भी लम्पी स्किन डिसीज नामक संक्रामक बीमारी फैल रही है। इस संक्रामक रोग की चपेट में प्रदेश सहित जिले के ज्यादातर गौवंश आ चुके हैं। (Lumpy skin disease spread in cow)

By: Dakshi Sahu

Published: 26 Aug 2020, 06:28 PM IST

बेमेतरा/मुरता. कोरोना की तर्ज पर ही पशुओं में भी लम्पी स्किन डिसीज नामक संक्रामक बीमारी फैल रही है। इस संक्रामक रोग की चपेट में प्रदेश सहित जिले के ज्यादातर गौवंश आ चुके हैं। पशु चिकित्सकों की माने तो यह बीमारी कोरोना वायरस की तर्ज पर संक्रमित पशु के संपर्क में स्वस्थ पशु के आने से फैलता है। लम्पी स्किन डिसीज के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए अभी तक कोई भी वैक्सीन नहीं बन पाया है। जो पशुपालकों के लिए चिंता की बात है। इस बीमारी का संक्रमण अब ग्राम पंचायत मुरता के गौवंश समेत नवागढ़ ब्लॉक में भी देखने को मिल रहा है। जिले के बेरला एवं साजा ब्लॉक में लम्पी स्किन डिसीज का व्यापक असर देखा जा सकता है। अब ग्राम मुरता समेत पूरे नवागढ़ ब्लॉक के ग्रामीण इलाकों के पशुओं में इस बीमारी के लक्षण दिखने लगे हैं। नवागढ़ सहित आसपास के गांव मुरता, दौनाडीह, बाघुल, घोघरा, बोरतरा, धोबनीकला एवं अन्य गांवों में लम्पी स्किन डिसीज फैलने की जानकारी मिली है।

बीमारी के लक्षण
पशुपालकों ने बताया कि इस बीमारी से पशुओं के शरीर का कोई भी हिस्सा अचानक सूजन हो जाता है। साथ ही पशुओं को हल्की बुखार एवं सर्दी भी रहती है। वही पशुओं के शरीर पर गोल-गोल छल्ले नुमा घाव भी दिखाई दे रहे है। यह घाव में पानी छूटते रहता है, जिससे घाव जल्दी सूख नहीं पाता है। जो पशुओं के लिए बेहद कष्टदायक रहता है। इस बीमारी से दुधारू पशु एवं गर्भवती गायों को ज्यादा खतरा है। राहत भरी बात यह है कि अब तक बेमेतरा जिले सहित पूरे प्रदेश में लम्पी स्किन डिसीज से एक भी पशुओं की मौत नहीं हो पाई है।

सिर्फ गौवंश में ही फैल रहा है लम्पी स्किन डिसीज
पशुधन विभाग बेमेतरा के उपसंचालक डॉ. राजेंद्र भगत ने बताया कि लम्पी स्किन डिसीज एक संक्रामक रोग है। जो तेजी से पशुओं में फैल रहा है। यह एक प्रकार की वायरल डिसीज है। जो पूरे भारत में फैला हुआ है। इस बीमारी की चपेट में ज्यादातर गौवंश वाले पशु ही आ रहे हैं। भैंस व बकरी इससे बचे हुए हैं। इस संक्रामक रोग को रोकने के लिए विभाग पूरी तरह से जुटा हुआ है। जिन गांवों में ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं, वहां बाकायदा शिविर लगाकर पशुओं का इलाज किया जा रहा है। इलाज के रूप में एंटीबायोटिक इंजेक्शन एवं दवाओं का प्रयोग किया जा रहा है। संक्रमित पशुओं का उचित देखभाल कर बीमारी को स्वस्थ पशुओं में फैलने से रोका जा सकता है।

गांवों में शिविर लगाकर कर रहे उपचार
पशु चिकित्सालय नवागढ़ के डॉ. विजय कुर्रे ने बताया कि ग्राम मुरता सहित ब्लॉक के विभिन्न गांवों में लम्पी स्किन डिसीज बीमारी फैलने की जानकारी लगातार मिल रही है। जिसको रोकने के लिए लगातार शिविर लगाया जा रहा है। बीतें दिनों बाघुल, घोघरा, धोबनीकला एवं बोरतरा में शिविर लगाया जा चुका है। जहां संक्रमित पशुओं का इलाज किया गया है। आने वाले दिनों में दर्जनों गांवों में शिविर लगाकर संक्रमित पशुओं का इलाज किया जाएगा।

मिली जानकारी अनुसार लम्पी स्किन डिसीज एक संक्रामक रोग है। जो संक्रमित पशु के संपर्क में आने से स्वस्थ पशुओं में फैलता है। लम्पी स्किन डिसीज से संक्रमित पशु को स्वस्थ्य पशुओं से अलग रखना चाहिए। संक्रमित पशु के चारे, पानी की प्रबंध अलग से करना चाहिए। संक्रमित पशुओं को गोठान में ना भेजें। ऐसा करने पर यह संक्रामक रोग स्वस्थ्य पशुओ में तेजी से फैलने का खतरा बना रहता है। लम्पी स्किन डिसीज से पीडि़त पशु का उचित देखभाल करना चाहिए। जिससे पशु जल्दी ही स्वस्थ्य हो सके।

coronavirus Coronavirus in india
Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned