स्कूल में पहले दिन की उपस्थिति पर गर्मी और पेयजल हावी

नए सत्र के पहले दिन शासकीय स्कूलों में दर्ज संख्या से बमुश्किल आधे ही पहुंचे थे।

By: Satya Narayan Shukla

Published: 01 Apr 2016, 11:35 PM IST

बेमेतरा. नए सत्र के पहले दिन शासकीय स्कूलों में दर्ज संख्या से बमुश्किल आधे ही पहुंचे थे। शिक्षकों का मानना है कि गर्मी के असर के साथ-साथ पानी का संकट भी छात्रों की उपस्थिति कम होने की बड़ी वजह रही।

पुरानी दिक्कतें आज भी बरकरार
बताना होगा कि शुक्रवार से स्कूलों का दरवाजा खोलकर प्रवेशोत्सव मनाए जाने की मियाद तय कर दी गई। पर शहर में संचालित स्कूलों में पुरानी दिक्कत व कठिनाई आज भी कायम है। शहर के बेसिक स्कूल, नवीन स्कूल, विद्यानगर, सिंघौरी (दो स्कूल), नयापारा नवीन स्कूल में बीते सत्र में पेयजल संकट था, इस सत्र में भी सबसे बड़ी यही दिक्कत है।

पीने की पानी की समस्या
सिंघौरी स्कूल में पदस्थ प्रधान पाठक राम खिलावन देवांगन ने बताया स्कूल में पीने के पानी की कमी है। गर्मी से बच्चे बीमार होने के भय से नहीं आ रहे हैं। पहले दिन आधे बच्चे आए हैं। प्राथमिक शाला सिंघौरी में भी दर्ज संख्या से आधे बच्चे ही पहुंचे थे। पेयजल संकट की वजह से बेसिक स्कूल में बच्चे पहुंचे ही नहीं।

शाला गुणवत्ता अभियान में दर्ज है
शासकीय स्कूल में पेयजल संकट को दो बार चले शाला गुणवत्ता अभियान में दर्ज किया गया था, फिर भी प्रभावित स्कूलों में महीनों बीतने के बाद पेयजल संकट बरकरार है। कई स्कूलों में शिक्षक व छात्र, दोनों को घर से पानी लाना पड़ रहा है।
Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned