पुलिस देखती रही और अतिक्रमणकारी ने सरपंच पर हमला कर दिया

बेमेतरा ब्लॉक के ग्राम मरका में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई से नाराज अतिक्रमणकारी ने सरपंच पर धारदार हथियार से जानलेवा हमला कर दिया।

By: Satya Narayan Shukla

Published: 10 Nov 2017, 11:11 AM IST

बेमेतरा. बेमेतरा ब्लॉक के ग्राम मरका में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई से नाराज अतिक्रमणकारी ने सरपंच पर धारदार हथियार से जानलेवा हमला कर दिया। इस हमले में 48 वर्षीय सरपंच रोहित साहू के सिर में गंभीर चोट आई है। जिसे उपचार के लिए बेमेतरा तहसीलदार अपने सरकारी वाहन से जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। प्राथमिक उपचार के पश्चात सरपंच को गंभीर हालत में मेडिकल कॉलेज, रायपुर रेफर किया गया है।

कब्जा किए 3 ग्रामीणों को पंचायत से नोटिस जारी
जानकारी के अनुसार, ग्राम मरका में सरकारी जमीन पर कब्जा किए 3 ग्रामीणों को ग्राम पंचायत से नोटिस जारी किया गया था। कई बार नोटिस जारी होने के साथ अंतिम नोटिस की मियाद पूरी होने पर अतिक्रमण हटाने बेमेतरा तहसीलदार प्रवीण तिवारी के नेतृत्व में जिला प्रशासन की टीम गुरुवार दोपहर करीब एक बजे ग्राम मरका पहुंची। इस कार्रवाई में हलका पटवारी रोहित लहरी, सरपंच रोहित साहू, सचिव द्वारिका साहू एवं सुरक्षा के दृष्टिकोण से नवागढ़ पुलिस के जवान शामिल थे।

अचानक किया सरपंच पर हमला
मरका में दो ग्रामीणों का अतिक्रमण हटाने के पश्चात् तीसरे ग्रामीण राजाराम साहू द्वारा कब्जा किए 10 एकड़ सरकारी जमीन व उस जमीन पर बनाए गए पक्के मकाने को हटाने की कार्रवाई शुरू की गई। इस दौरान कार्रवाई से नाराज अतिक्रमणकारी राजाराम व उसके परिवार के लोगों ने सरपंच रोहित साहू पर अचानक धारदार हथियार से हमला कर दिया, हमले से सभी स्तब्ध रह गए और मौके पर उपस्थित ग्रामीणों व पुलिस जवानों की मदद से सरपंच को बचाया गया। इस दौरान घटना को अंजाम देने के पश्चात् राजाराम साहू मौका पाकर फरार हो गया।

पत्नी व पोता गिरफ्तार
वहीं नवागढ़ पुलिस राजाराम की पत्नी सुल्ताना साहू व 20 वर्षीय पोते कुलेश्वर साहू को गिरफ्तार किया है। प्रार्थी सरपंच के बेटे प्रवीण साहू की रिपोर्ट पर सिटी कोतवाली बेमेतरा में आरोपी राजाराम साहू, सुल्ताना साहू व कुलेश्वर साहू के विरुद्ध धारा 307, 34 भादवि के तहत् जीरो में प्रकरण दर्ज किया गया है। अग्रिम कार्रवाई के लिए प्रकरण की डायरी नवागढ़ पुलिस को भेजी जाएगी।

दुकान, मकान और 10 एकड़ जमीन मुक्त
सरपंच रोहित साहू ने पंचायत प्रस्ताव के साथ सरकारी जमीन को कब्जा मुक्त करने ज्ञापन सौंपा था। अतिक्रमण हटाने प्रशासनिक टीम नवागढ़ पुलिस जवानों के साथ ग्राम मरका पहुंची। जहां अतिक्रमणकारी राघवेन्द्र ठाकुर द्वारा सरकारी जमीन पर कब्जा कर बनाए गए व्यवसायिक काम्पलेक्स के सात पक्के दुकान, दल्लू यादव की एक गुमटी और राजाराम साहू के पक्के मकान व 10 एकड़ जमीन को मुक्त कराया गया।

तीन बार नोटिस के बावजूद मनमानी
तहसीलदार प्रवीण तिवारी के अनुसार, तीन माह पूर्व ग्राम पंचायत में प्रस्ताव पारित कर पंचायतीराज अधिनियम की धारा 56 के तहत गांव मे सरकारी जमीन पर कब्जा किए तीन ग्रामीण दल्लू यादव, राघवेन्द्र सिंह ठाकुर व राजाराम साहू को नोटिस जारी कर समयावधि में अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए गए। इस दौरान तीन माह की अवधि में अतिक्रमणकारियों को तीन बार नोटिस जारी किया गया। इसके बावजूद सरकारी जमीन को कब्जा मुक्त नहीं करने पर गुरुवार को प्रशानिक टीम अतिक्रमण हटाने गांव पहुंची।

Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned