बहन के लवर ने शादी से किया इनकार तो गुस्से में लाल भाई और उसके दोस्तों ने दे दिया खौफनाक वारदात को अंजाम

Laxmi Narayan Dewangan

Publish: Jul, 11 2018 06:30:00 AM (IST)

Bemetara, Chhattisgarh, India
बहन के लवर ने शादी से किया इनकार तो गुस्से में लाल भाई और उसके दोस्तों ने दे दिया खौफनाक वारदात को अंजाम

पहचान छुपाने के लिए जला दिया था शव, मामले में 4 आरोपियों को 7 साल की सजा

बेमेतरा . जिला अपर सत्र न्यायालय ने 11 नवंबर 2015 को हुए हत्या के मामले में प्रकरण की सुनवाई करते हुए हत्या में शामिल 4 आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। मृतक अमरजीत साहू भिलाई का प्रेम संबंध हत्या के मुख्य आरोपी शुभम साहू की बहन के साथ था।
गमछा से गला कसकर की हत्या
प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना दिनांक 11 नवंबर 2015 को अमरजीत साहू अपनी प्रेमिका से मिलने ग्राम देवकिरारी थाना बिल्हा जिला बिलासपुर गया था। जहां पर आरोपी की बहन से मिलकर वापस आ रहा था, तभी आरोपी शुभम साहू, दिलीप साहू, वेदप्रकाश साहू व कन्हैया साहू ने अमरजीत साहू को बिल्हा रेल्वे स्टेशन तक छोडऩे की बात कहते हुए मोटर साइकिल में बैठाकर घटना स्थल पर ले गए। जहां आरोपी शुभम ने अपनी बहन से शादी करने की बात पूछी तो अमरजीत के इंकार करने पर चारों आरोपियों को उनका इंकार करना नागवार गुजरा और उन्होंने अमरजीत साहू की हत्या करने के उद्देश्य से उनके गले में गमछा से कसकर हत्या कर दी। फिर शव को पेट्रोल डालकर जला दिया ताकि शव की पहचान न हो सके। अज्ञात अधजले लाश देखे जाने की सूचना कोटवार के द्वारा दिया गया। जिस पर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर विवेचना की और आरोपियो को गिरफ्तार किया।
पुलिस के समक्ष आरोपियों ने स्वीकार किया था जुर्म
अपर सत्र न्यायाधीश ममता पटेल ने गवाहों के बयान, आरोपियों के द्वारा पुलिस के समक्ष कबुलनामा एवं निशानदेही पर हत्या में उपयोग किए गए मोटर साइकिल जेरीकेन की जब्ती एवं पोस्टमार्टम में गला दबाने पर संास रुकने से दम घुटने की वजह से मौत होने के आधार पर न्यायाधीश ने 4 आरोपियों शुभम साहू, दिलीप साहू, वेदप्रकाश साहू व कन्हैया साहू को धारा 120 बी अपराधिक षडय़ंत्र रचने, धारा 364 हत्या के लिए अपहरण करने, धारा 302 हत्या करने, धारा 201 साक्ष्य छुपाने के अपराध में सजा सुनाया है। जिसके तहत आजीवन कारावास एवं 100 रुपए का अर्थदंड व 7 साल कठोर कारावास की सजा सुनाई गई है। अर्थदंड नहीं देने पर 3 माह का अतिरिक्त कठोर कारावास की सजा सुनाई गई है।

Ad Block is Banned