सरकार की तरह बेवफा सनम निकली सोयाबीन की ये बीज, खेत में किसानों को दे दिया बड़ा धोखा

सरकार की तरह बेवफा सनम निकली सोयाबीन की ये बीज, खेत में किसानों को दे दिया बड़ा धोखा

Dakshi Sahu | Updated: 15 Jul 2018, 02:43:39 PM (IST) Bemetara, Chhattisgarh, India

प्रमाणित बीज के नाम पर किसानों को दिए गए सोयाबीन बीज के खराब होने के किसानों को नुकसान हुआ है।

बेमेतरा. प्रमाणित बीज के नाम पर किसानों को दिए गए सोयाबीन बीज के खराब होने के किसानों को नुकसान हुआ है। ग्राम मुड़पार, लोलेसरा, पिकरी, बहेरा के 20 किसानों को इस बार खेती से हाथ धोना पड़ सकता है। अब जिम्मेदार बीज निगम के अधिकारी जवाबदेही से बच रहे हैं। जानकारों के अनुसार सोयाबीन बीज का 60 से 70 प्रतिशत अंकुरण को अच्छा माना जाता है लेकिन किसानों को दिए गए बीज का अंकुरण 20 से 25 प्रतिशत तक ही अंकुरण हुआ है।

परेशान किसान
बेमेतरा सेवा सहकारी समिति के माध्यम से चालू खरीफ सीजन में किसानों ने प्रमाणित सोयाबीन का बीज बोया, लेकिन अंकुरण नहीं होने से वे परेशान दिख रहे हैं। पहले ही वे सूखे की चपेट में आ चुके हैं। कुछ किसानों ने कर्ज लेकर बाजार से बीज खरीद कर अपने खेतों में बोआई की, लेकिन अब खेत खाली हैं।

ग्राम मुड़पार के किसान खेलावन, सुधेराम वर्मा, पिकरी के किसान बीरेन्द्र वर्मा, सुरेश बहेरा के किसान भोला वर्मा, अशोक वर्मा, तारण वर्मा, लोलेसरा के किसान मनोहर वर्मा, भुनेश्वर वर्मा, भगोलीराम कोठारी, लेडग़ा वर्मा, भोजेन्द्र वर्मा ने बताया कि उन्होंने सेवा सहकारी समिति बेमेतरा से केसीसी ऋण के माध्यम से प्रमाणित सोयाबीन बीज किस्म जेएस 9305 लिया था।

मौसम अनुकूल होने व जमीन में पर्याप्त नमी होने पर सोयाबीन बीज की बोआई की। अब खेतों में सोयाबीन के इक्के-दुक्के पौधे ही दिख रहे हैं और पूरा खेत खाली दिख रहा है। किसानों ने कहा कि समिति खराब बीज देकर भी कर्ज की वसूली करेगी। उसे फसल हो या नहीं हो, कोई फिक्र नहीं है।

दोबारा बोनी करने में होगी दिक्कत
किसानों ने बताया कि खेत खाली पड़े हैं। अभी बीज भी नहीं मिल रहे हैं। बीज मिल भी जाए तो दूसरे किसानों से खेती में पिछड़ जाएंगे। वैसे भी अब उन्हें चिंता है कि बीज के लिए पैसे कहां से लाएंगे। साथ ही किसानों के खेत बीच खार में होने से वहां बोआई करने के लिए ट्रैक्टर वगैरह ले जाते नहीं बन पा रहा है। ऐसे में चालू सत्र में किसानों के खेत खाली रहेंगे।

अध्यक्ष सेवा सहकारी समिति बेमेतरा बहलराम वर्मा ने बताया कि किसान पिछले वर्ष सूखा से पीडि़त हैं और इस खरीफ सीजन में सेवा सहकारी समिति से लिए सोयाबीन के प्रमाणित बीज के अंकुरण नहीं होने से परेशान हो रहे हैं। ऐसे में किसानों के बीज कि राशि वापस की जाए। साथ ही किसानों को उन्नत किस्म के बीज उपलब्ध कराए जाएं।उप संचालक कृषि बेमेतरा शशांक शिंदे ने बताया कि बीज खराब निकलने की जांच कराएंगे। प्रभावित गांवों के किसानों को पक्ष गंभीरता से लिया जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned