बेरला जनपद पंचायत में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भर्ती विवाद पहुंचा कलेक्टोरेट

बेरला जनपद पंचायत में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भर्ती विवाद पहुंचा कलेक्टोरेट

Rajkumar Bhatt | Publish: Sep, 11 2018 04:00:00 AM (IST) Bhilai, Chhattisgarh, India

बेरला ब्लॉक में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की नियुक्ति के मामले में महिला एवं बाल विकास विभाग की कार्यशैली पर सवाल किए जा रहे हैं।

बेमेतरा/बेरला. ब्लॉक के आंगनबाड़ी केंद्रों में कार्यकर्ताओं की नियुक्ति की प्रक्रिया को निरस्त करने का प्रस्ताव पारित करने के बाद अब बेरला जनपद के सदस्य महिला एवं बाल विकास की सभापति दामिनी साहू के नेतृत्व में कलक्टर जनदर्शन में जाकर भर्ती प्रक्रिया को निरस्त करने के लिए आवेदन देने की तैयारी कर रहे हैं।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के 18 पदों पर होनी थी भर्ती

गौरतलब हो कि महिला एवं बाल विकास विभाग बेरला ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के 18 पदों पर भर्ती के लिए नौ माह पूर्व आवेदन मंगाए थे, लेकिन तय सीमा के भीतर भर्ती प्रक्रिया को पूर्ण करने की बजाए परियोजना अधिकारी ने बीआर मंडावी ने तीन माह में पूरी की जाने वाली प्रक्रिया को नौ माह बाद जनपद पंचायत में रखा, जिसमें गड़बड़ी की आशंका को देखते हुए सदस्यों ने तत्काल भर्ती प्रक्रिया को निरस्त करने का प्रस्ताव पास कर दिया।

सीइओ ने लिखा कलक्टर को पत्र

भर्ती प्रक्रिया में गड़बड़ी की आशंका पर जनपद सदस्यों के बाद जनपद सीइओ अनिता जैन ने कलक्टर और जिला कार्यक्रम अधिकारी को भर्ती प्रक्रिया निरस्त करने के लिए पत्र लिखा था। इसके बाद अब जनपद सदस्यों ने फिर से एक बार कलक्टर जनदर्शन में जाकर भर्ती प्रक्रिया को निरस्त करने के लिए आवेदन देंगे।

नवागढ़ और खंडसरा में भी प्रक्रिया पर विवाद

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भर्ती का मामला केवल बेरला में ही विवादित हो, ऐसा नहीं है। नवागढ़ और खंडसरा में भी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की भर्ती में भ्रष्टाचार की शिकायत मिलने के बाद भर्ती प्रक्रिया को निरस्त कर दिया गया था। अब लोगों की निगाहे बेरला परियोजना की भर्ती प्रक्रिया पर टिकी हुई है।

सीएम के पास भी जाएंगे

मामले में बेरला जनपद पंचायत में महिला बाल विकास की सभापति दामिनी साहू ने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की नियुक्ति प्रक्रिया को निरस्त करने के लिए जिला मुख्यालय जाकर कलक्टर से मांग की जाएगी। जरूरत पडऩे पर मुख्यमंत्री से भी शिकायत की जाएगी।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned